Wednesday, April 17, 2024
बस्ती मण्डल

राजन इंटरनेशनल एकेडमी में 4 अप्रैल से शुरू होंगी नए सत्र की कक्षाएं

बस्ती। बस्ती मण्डल का ख्यातिलब्ध शैक्षणिक संस्थान राजन इंटरनेशनल एकेडमी में आगामी 4 अप्रैल से नये सत्र की कक्षाओ का संचालन किया जायेगा जिसकी तैयारियां एकेडमी प्रबंध तंत्र द्वारा पूरी कर ली गयी है।

प्रबन्ध निदेशिका शिखा चतुर्वेदी के निर्देशन में मात्र दो सत्र में राजन इंटरनेशनल एकेडमी ने अभिभाबको का भरोसा जितने का जो काम किया है निश्चित ही ऐतिहासिक है।

मीडिया से बातचीत के दौरान प्रवन्ध निदेशिका शिखा चतुर्वेदी ने कहा कि पूर्वांचल के मालवीय कहे जाने वाले पंडित सूर्य नारायण चतुर्वेदी का सपना था कि शिक्षा पर सबका समान अधिकार है चाहे वह अमीर हो या गरीब। उन्ही के सपने को साकार करने की दिशा में राजन इंटरनेशनल एकेडमी की स्थापना दो वर्ष पूर्व किया गया।

जिसमे यह निर्णय लिया गया कि शिक्षा का जो बाजारीकरण हो रहा है इंग्लिश मीडियम स्कूलों की भारी भरकम फीस को बोझ जो अभिभावक नही उठा सकते उनके बच्चों को भी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया कराई जाए। एकेडमी के पहले सत्र में जो निर्णय लिया गया वो यह था कि प्रवेश शुल्क बिल्कुल न लिया जाए साथ ही मासिक फीस न्यूनतम रखा जाए। जिसका परिणाम आज सामने है करीब दो हजार से ऊपर बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे है।

प्रधानाचार्य सानू एंटोनी ने कहा कि राजन इंटरनेशनल एकेडमी जहाँ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया करा रहा है वही छात्रो के सर्वागीण विकास को ध्यान में रखते हुए राजन क्रिकेट एकेडमी, निशुल्क शैक्षणिक भ्रमण, नृत्य संगीत, कंप्यूटर लैब साइंस लैब,स्मार्ट क्लासेज जैसी तमाम सुविधाओं से एकेडमी को सुसज्जित किया गया है।

उन्होंने कहा कि विद्यालय से 25 किलोमीटर की परिधि से बच्चों को लाने एवं ले जाने की सुविधा है तो वही काफी किताब में 50 प्रतिशत की छूट दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि प्लेबे से इंटरमीडिएट तक के प्रवेश लिए जा रहे है प्रवेश शुल्क नही लिया जा रहा है साथ एकेडमी में योग्य शिक्षक शिक्षिकाओ के परिश्रम का परिणाम है कि बच्चों का प्रदर्शन शानदार रहा है।नए सत्र में बच्चों की संख्या बढ़ी है तो उसी अनुसार क्लासरूम और शिक्षकों की संख्या बढ़ाई है। उन्होंने कहा कि प्रवंध तंत्र का जिस तरह सहयोग मिल रहा है उससे हम एकेडमी में निरंतर सुधार कर रहे है।
नामांकन कराने के लिए आ रहे छात्र-छात्राओं व उनके अभिभावकों को सहुलियत देते हुए प्रबंध तंत्र ने विभिन्न काउंटरो पर पहुंचकर नामांकन की प्रक्रिया को सुनिश्चित कर रहे हैं।