Saturday, May 18, 2024
हेल्थ

एक मिनट तक ताली बजा कर नर्सेज को दिया गया सम्मान

गोरखपुर, जिले के सरकारी स्वास्थ्य इकाइयों पर अन्तर्राष्ट्रीय नर्स दिवस के मौके पर स्टॉफ नर्सेज के लिए रविवार को एक मिनट तक ताली बजायी गयी और इस खास अंदाज में उन्हें सम्मान दिया गया । इस मौके पर नर्सिंग पेशे की आदर्श फ्लोरेंस नाइटेंगिल के चित्र पर पुष्प चढ़ा कर उनके व्यक्तित्व और कृतित्व के बारे में भी चर्चा हुई । कुछ सोशल मीडिया इनफ्लुएंशर्स ने भी सोशल मीडिया प्लेटफार्म के जरिये नर्सेज के सामाजिक योगदान को याद किया । महानगर के बिछिया शहरी स्वास्थ्य केंद्र पर स्टॉफ नर्स के सम्मान में क्लैपिंग तो की ही गयी, साथ ही उन्हें पुष्प गुच्छ और पेन देकर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ एके वर्मा ने सम्मानित किया ।

शहरी पीएचसी बिछिया पर सम्मानित हुई स्टॉफ नर्स रत्नावली चौरसिया (30) ने कहा कि वह पिछले पांच वर्षों से इस पेशे में हैं, लेकिन पहली बार इस प्रकार का सम्मान मिला है । लोगों ने तालियां बजा कर स्वागत किया और जब इतना सम्मान मिला तो मनोबल काफी बढ़ा है। इससे सदैव बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिली है । प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ वर्मा ने बताया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष कुमार दूबे ने निर्देश दिया था कि सभी इकाइयों पर नर्स दिवस को मनाया जाए और नर्सेज के सम्मान में ताली बजायी जाए। इसी क्रम में यह आयोजन किया गया ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष कुमार दूबे ने नर्सेज को बधाई देते हुए कहा कि एक संभ्रांत परिवार में पैदा होने वाली फ्लोरेंस नाइटेंगिल ने गरीबों और जरूरतमंदों की सेवा कर नर्सिंग पेशे में मिशाल पेश की है। आज की हमारी स्टॉफ नर्सेज स्वास्थ्य सेवा के रीढ़ की हड्डी हैं। डॉक्टर की अनुपस्थिति में स्वास्थ्य सेवा के प्रति विश्वसनीयता बनाये रखने में नर्सेज अहम भूमिका निभा रही हैं। इस दौर की नर्स सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) की भूमिका में भी समुदाय के बीच स्वास्थ्य कार्यक्रमों को मजबूती प्रदान कर रही हैं ।

*ट्रैफिक सब इंस्पेक्टर ने योगदान याद किया*

जिले के तेज तर्रार ट्रैफिक सब इंस्पेक्टर रामवृक्ष यादव ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म के जरिये लोगों को बताया कि जब वह टीबी से ग्रसित थे तो उनके ठीक होने में नर्स की अहम भूमिका थी। उनका बच्चा बीमारी के दौरान जब मेडिकल कॉलेज में भर्ती हुआ तो डॉक्टर के साथ साथ नर्सेज ने बहुत मदद की थी। इस तरह नर्सेज के योगदान के कारण ही वह समाज में बेहतर योगदान दे पा रहे हैं।

*पहली बार हुई खास पहल*

भटहट सीएचसी के अधीक्षक डॉ अश्वनी चौरसिया ने बताया कि पहली बार जिले में नर्स दिवस पर नर्सेज को ताली बजा कर सम्मान देने की पहल हुई है। इससे सभी नर्सेज का हौसला बढ़ा और इस पहल के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी को सभी के द्वारा धन्यवाद भी दिया गया है।