Wednesday, July 24, 2024
बस्ती मण्डल

नये टीबी मरीजों को खोजने पर आशा कार्यकर्ता को भी पांच सौ रुपये देने का प्रावधान-डीटीओ

गोरखपुर, जिला क्षय और कुष्ठ अधिकारी डॉ गणेश यादव ने कहा है कि अगर आशा कार्यकर्ता नया टीबी मरीज खोज कर पंजीकृत करवाती हैं तो उन्हें भी पांच सौ रुपये उनके खाते में सूचनादाता के तौर पर देने का प्रावधान है । ब्लॉक स्तरीय अधिकारी और आशा संगिनी इस बारे में आशा कार्यकर्ताओं को जागरूक करें । यह बातें उन्होंने टीबी और कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के बारे में आशा संगिनी और ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों के प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान एनेक्सी भवन सभागार में मंगलवार को कहीं । इस प्रशिक्षण के बाद ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों और आशा संगिनी की मदद से आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित कर कार्यक्रम को मजबूती प्रदान की जाएगी ।

डॉ गणेश यादव ने कहा कि अगर किसी को दो सप्ताह से अधिक की खांसी, सीने में दर्द, पसीने के साथ बुखार, तेजी से वजन घटने, भूख न लगने और बलगम में खून आने जैसे लक्षण दिखें तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र या आयुष्मान आरोग्य मंदिर भेज कर टीबी की जांच कराना है । अगर आशा कार्यकर्ता के माध्यम से मरीज केंद्र आता है और जांच के बाद पहली बार टीबी की पुष्टि होती है तो कार्यकर्ता को सूचनादाता के रूप में 500 रुपये उसके खाते में दिये जाते हैं । मरीज को भी इलाज चलने तक 500 रुपये प्रति माह की दर से धनराशि पोषण के लिए दिये जाते हैं । मरीज को धनराशि देने का उद्देश्य है कि वह प्रोटीनयुक्त आहार जैसे दूध, मछली, अंडा, पनीर आदि का सेवन करे । ऐसा करने से मरीज को जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है । मरीज को महंगी जांचें भी सरकारी प्रावधानों के अनुसार उपलब्ध कराई जाती हैं ।

डॉ यादव ने कहा कि अगर गृह भ्रमण के दौरान आशा कार्यकर्ता को कुष्ठ का संभावित रोगी मिले तो नजदीकी ब्लॉक स्वास्थ्य इकाई पर भेज कर नान मेडिकल असिस्टेंट या नान मेडिकल सुपरवाइजर की मदद से कुष्ठ की जांच करा लें । किसी के शरीर में अगर सुन्न दाग धब्बे हैं जिनका रंग चमड़ी के रंग से हल्का है तो यह कुष्ठ भी हो सकता है । ऐसे लक्षण दिखने पर संबंधित व्यक्ति को स्वास्थ्य केंद्र पर भेजें । पासी बेसिलाई कुष्ठ रोगी खोज कर सम्पूर्ण इलाज करवाने पर 650 रुपये और मल्टी बेसिलाई कुष्ठ रोगी खोज कर सम्पूर्ण इलाज करवाने पर 850 रुपये आशा कार्यकर्ता को खाते में देने का प्रावधान है ।

उप जिला क्षय अधिकारी डॉ विराट स्वरूप श्रीवास्तव और जिला कुष्ठ परामर्शदाता डॉ भोला गुप्ता ने कार्यक्रम के बारे में विस्तार से जानकारी दिया । आभार ज्ञापन पीपीएम समन्वयक अभय नारायण मिश्रा ने किया । इस मौके पर डीपीसी धर्मवीर प्रताप सिंह, इंद्रनील, वर्ल्ड विजन इंडिया संस्था से शक्ति पांडेय, चंद्रप्रकाश, कुष्ठ रोग विभाग से आसिफ और पवन श्रीवास्तव प्रमुख तौर पर मौजूद रहे ।

*ब्लॉक पर दिया जाएगा प्रशिक्षण*

गगहा ब्लॉक के बीसीपीएम अशोक पांडेय ने बताया कि जिला स्तरीय प्रशिक्षण में टीबी और कुष्ठ के बारे में विस्तार से जानकारी मिली है । दोनों बीमारियों के उन्मूलन में आशा कार्यकर्ता की सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित की जाएगी । चरगांवा ब्लॉक के बिहैवेरियल हेल्थ वर्कर राकेश पाठक और ज्ञान प्रकाश ने आश्वासन दिया कि आशा कार्यकर्ता को कार्यक्रम में उनकी भूमिका के बारे में विस्तार से बताया जाएगा ।