Tuesday, June 25, 2024
बस्ती मण्डल

सरकार ने स्ववित्तपोषित शिक्षकों के मानदेय का विवरण मांगा :संजय द्विवेदी

बस्ती। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के मंडलीय मंत्री संजय द्विवेदी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार स्ववित्तपोषित शैक्षिक संस्थानों में कार्यरत शिक्षकों की सूचना मांगी है। जिससे स्ववित्तपोषित विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों को मानदेय मिलने व सेवा नियमावली निर्गत होने की संभावना बढ़ गई है। बैठक की अध्यक्षता प्रधानाचार्य अभिषेक शर्मा व संचालन उदयभान सिंह ने किया।
श्री द्विवेदी रविवार को किसान इंटर कालेज बस्ती में संगठन की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि शिक्षा निदेशक माध्यमिक विनय कुमार पांडेय ने प्रदेश के सभी संयुक्त शिक्षा निदेशक से 6 अक्टूबर तक स्ववित्तपोषित शैक्षिक संस्थाओं में कार्यरत शिक्षकों के संदर्भ में सूचना मांगी है। पत्र में ₹15 हजार से अधिक मानदेय पाने वाले शिक्षकों की संख्या व ₹15 हजार से कम मानदेय पाने वाले शिक्षकों की संख्या के बारे में जानकारी मांगी गई है।
उन्होंने कहा कि हमारी स्पष्ठ मांग है कि माध्यमिक शिक्षा परिषद् में मान्यता की धारा 7क (क) को धारा 7(4) में परिवर्तित किया जाय । स्ववित्तपोषित विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों एवं कर्मचारियों की सेवा नियमावली निर्मित करते हुए पांच अंकों में सम्मानजनक वेतन बैंक के माध्यम से इनके खाते में दिया जाय।
उन्होंने कहा कि जिला विद्यालय निरीक्षक की कार्यशैली से कठिनाई हो रही है। वे उमरिया बाजार, सिरसी, एचआर इंटर कालेज के प्रकरण को मनमानी तरीके से उलझा रहे हैं। बोर्ड परीक्षा पारिश्रमिक वर्ष 2019 व 2020 का भुगतान नही हो पा रहा है।
इस दौरान गिरिजानंद यादव, मोहिबुल्लाह खान, महेश राम, हरिकेश बहादुर यादव, त्रिपुरारी नाथ पांडेय, राकेश कुमार भारती, रणविजय, श्री राम मौर्या, विनोद उपाध्याय, कमर आलम, महेंद्र यादव, सुधीर कुमार, सन्त मोहन त्रिपाठी, जितेंद्र कुमार, महेश्वर सिंह, भूपेंद्र कुमार, गोपाल जी सिंह, अफजल अहमद, विजेंदर कुमार, राम नारायण पांडेय, जय प्रकाश गौतम, रणविजय, फिरोज अहमद, रविन्द्र चौरसिया सहित अन्य मौजूद रहे।