Sunday, April 14, 2024
बस्ती मण्डल

छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति दिये जाने की मांग को लेकर मेधा चला रही है जागरूकता अभियान

बस्ती। मेधा के केन्द्रीय प्रवक्ता दीन दयाल त्रिपाठी के संयोजन में रविवार को छात्रों की दशमोत्तर एवं समस्त छात्रों को छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति दिये जाने की मांग को लेकर बस्ती सदर विकास खण्ड के ससना गांव मंे जागरूकता अभियान चलाया गया।
मेधा के केन्द्रीय प्रवक्ता दीन दयाल त्रिपाठी ने बताया कि छात्रवृतित के सवाल को लेकर लगातार विभिन्न स्थानों पर जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है। मेधा संस्थापक पूर्व आईएएस स्वर्गीय लक्ष्मीकान्त शुक्ल ने सर्वोच्च न्यायालय से जो अधिकार उत्तर प्रदेश के छात्रों को दिलाया था वर्तमान की भाजपा सरकार उसे छीन लेना चाहती है। प्रदेश में छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति की प्रक्रिया को लगातार बाधित कर सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का खुला उल्लंघन किया जा रहा है।
ग्रामीणों, अभिभावकों, छात्रों को जागरूक करते हुये दीन दयाल त्रिपाठी ने बताया कि वर्ष 2017-18 में पांच लाख छात्रों को, 2018-19 में 6 लाख, 2019-20 में 7 लाख छात्रों को छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति सुविधा से वंचित कर दिया गया। यदि छात्र, अभिभावक सचेत न हुये तो यह सुविधा सरकार छीन लेगी क्योंकि यूपी की वर्तमान सरकार की मंशा में ही खोट है। बताया कि मेधा की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सुशीला शुक्ला के आवाहन पर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति की मांग को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इस कोरोना संकट के समय यदि उत्तर प्रदेश की सरकार ने छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति न दिये जाने का निर्णय वापस न लिया तो आर-पार का संघर्ष किया जायेगा।
मेधा के जागरूकता अभियान में अविनाश उर्फ गुड्डू दूबे, शत्रुघ्न उपाध्याय, गौरव दूबे, अरविन्द दूबे, अनिल, अभिषेक शुक्ल, कृष्णचन्द्र चौधरी, ज्ञान सागर चौधरी, रवि प्रकाश दूबे, उमेश चन्द्र पाण्डेय ‘मुन्ना’ गिरिराज गिरी, सूरज दूबे, धर्मदेव दूबे, रमाकान्त मिश्र, सुमन्त मिश्र, राजू पाण्डेय, अरविन्द पाण्डेय, महेन्द्र मिश्र, विष्णु पाल उर्फ नन्हें पाल आदि शामिल रहे।