Tuesday, April 16, 2024
खेल

दिल्ली कैपिटल्स ने किंग्स XI पंजाब को हराया, सुपर ओवर में दी मात

दिल्ली कैपिटल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच में रविवार को यहां किंग्स इलेवन पंजाब को सुपर ओवर में हराया। दिल्ली और पंजाब दोनों ने निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट पर 157 रन का समान स्कोर बनाया था।

मार्कस स्टोइनिस की  धुआंधार बल्लेबाजी

मोहम्मद शमी की अगुवाई की शानदार गेंदबाजी के सामने शीर्ष क्रम लड़खड़ाने के बावजूद दिल्ली कैपिटल्स ने मार्कस स्टोइनिस के अंतिम ओवरों की धुआंधार बल्लेबाजी से किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग में आज यहां आठ विकेट पर 157 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया। दिल्ली अंतिम तीन ओवरों में 57 रन जुटाने में सफल रहा जिसमें स्टोइनिस का योगदान अहम रहा। उन्होंने 21 गेंदों पर 53 रन बनाये जिसमें सात चौके और तीन छक्के शामिल हैं। इससे पहलेकप्तान श्रेयस अय्यर (32 गेंदों पर 39, तीन छक्के) और ऋषभ पंत (29 गेंदों पर 31, चार चौके) ने चौथे विकेट के लिये 73 रन जोड़े थे। शमी ने 15 रन देकर चार विकेट लिये जबकि आईपीएल में पदार्पण कर रहे लेग स्पिनर रवि बिश्नोई ने भी प्रभाव छोड़ा और 22 रन देकर एक विकेट लिया। शेल्डन कोटरेल (24 रन देकर दो) ने भी पहले तीन ओवरों में प्रभावशाली गेंदबाजी की। स्टोइनिस ने जोर्डन को निशाने पर रखा और उन पर 18वें ओवर में छक्का और चौका जड़ने के बाद इस गेंदबाज के पारी के आखिरी ओवर में दो छक्के और तीन चौके लगाये तथा केवल 20 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। जोर्डन के इस ओवर में 30 रन बने।

पावरप्ले में दिल्ली तीन विकेट पर 23 रन ही बना पाया

दिल्ली ने टास गंवाया और इसके बाद शमी की घातक गेंदबाजी और लापरवाह बल्लेबाजी के कारण जल्द ही उसका स्कोर तीन विकेट पर 13 रन हो गया। पिच से असमान उछाल मिल रही थी और किंग्स इलेवन के गेंदबाजों ने इसका फायदा उठाया। शमी की लॉकडाउन के दिनों में अपने गांव में की गयी तैयारियों का असर उनकी गेंदबाजी पर साफ दिख रहा था। पहले ओवर में भाग्य उनके साथ नहीं था। शिखर धवन का कैच विकेटकीपर केएल राहुल ने छोड़ा लेकिन वह बायें हाथ के इस बल्लेबाज को रन आउट करने में सफल रहे। इसी ओवर में के गौतम ने शिमरोन हेटमायर का हवा में लहराता कैच छोड़ दिया। शमी ने अगले ओवर में हालांकि पृथ्वी साव (पांच) और हेटमायर (सात) को पवेलियन भेज दिया।

पावरप्ले में दिल्ली तीन विकेट पर 23 रन ही बना पाया। पंत और अय्यर दस ओवर तक स्कोर 49 रन तक ही पहुंचा पाये थे। इनमें अय्यर का गौतम पर लांग ऑन पर लगाया गया दर्शनीय छक्का शामिल था। इसी गेंदबाज पर उन्होंने बाद में लगातार दो छक्के लगाकर रन गति बढ़ायी लेकिन इन दोनों बल्लेबाजों के तीन गेंद के अंदर आउट होने से दिल्ली फिर बैकफुट पर चला गया। बिश्नोई ने पंत को गुगली पर बोल्ड किया। इसके बाद शमी अपना आखिरी ओवर करने के लिये आये और उन्होंने आते ही अय्यर को मिडऑफ पर कैच देने के लिये मजबूर किया। आलम यह था कि दिल्ली का स्कोर 17 ओवर में तिहरे अंक में पहुंचा लेकिन इसके बाद स्टोइनिस ने पूरा परिदृश्य बदल दिया।