Monday, March 4, 2024
बस्ती मण्डल

पेेंशन बहाली की मांग को लेकर दिल्ली महारैली में हिस्सा लेंगे कर्मचारी, शिक्षक

बस्ती । रविवार को पुरानी पेंशन योजना बहाली संयुक्त मंच के आवाहन पर राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद की बैठक कलेक्टेªट परिसर स्थित संघ भवन कार्यालय पर जिलाध्यक्ष मस्तराम वर्मा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में पुरानी पेंशन नीति बहाल किये जाने के एक सूत्रीय मांग को लेकर आगामी 10 अगस्त को रामलीला मैदान नई दिल्ली में आयोजित होने वाली महारैली में हिस्सेदारी पर विचार विमर्श किया गया। निर्णय लिया गया कि महारैली में हिस्सा लेने वाले केन्द्रीय कर्मी, राज्य कर्मचारी, शिक्षक अपना रिर्जवेशन समय से करा ले जिससे आवागमन में असुविधा न हो। कर्मचारी, शिक्षक 9 अगस्त को अगस्त क्रान्ति के दिन दिल्ली के लिये रवाना होंगे।
बैठक में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष मस्तराम वर्मा ने कहा कि सरकार जानबूझकर कर्मचारी हितों की अनदेखी कर रही है। लम्बे समय से पुरानी पेंशन नीति बहाल किये जाने की मांग चल रही है। अनेक राज्य सरकारोें ने पुरानी पेंशन को बहाल कर दिया किन्तु केन्द्र और उत्तर प्रदेश की सरकार इस दिशा में गंभीर नहीं है।
कार्यवाहक अध्यक्ष राम अधार पाल ने कहा कि दिल्ली में आयोजित होने वाली महारैली में पूरे देश के कर्मचारी, शिक्षक पुरानी पेेंशन का अपना हक मानने पहुंचेंगे और मानसून सत्र में संसद का घेराव किया जायेगा। कहा कि यदि उत्तर प्रदेश सरकार ने मांगे मान ली होती तो कर्मचारी आन्दोलन को बाध्य न होते। जब तक पुरानी पेंशन योजना की बहाली कर समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता राज्य कर्मचारी चरणबद्ध ढंग से अपना आन्दोलन जारी रखेंगे। संचालन करते हुये जिला मंत्री तौलू प्रसाद, राजस्व निरीक्षक संघ के मंत्री सन्तोष शुक्ल, राजस्व अमीन संघ के अध्यक्ष राकेश श्रीवास्तव आदि ने कहा कि कर्मचारी इतिहास के सबसे कठिन दौर से गुजर रहा है। पुरानी पेंशन नीति सम्बन्धी मांग की अनदेखी चिन्ताजनक है। दिल्ली की रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिये कर्मचारी पूरी ताकत झोंक देंगे।
बैठक मुख्य रूप से ई. राजेश श्रीवास्तव, मनसाराम, सन्तोष राव, मनीष यादव, विनय शुक्ल, उमेश वर्मा, विनय शुक्ल, आशीष श्रीवास्तव के साथ ही परिषद एवं विभिन्न विभागों के अनेक पदाधिकारी, कर्मचारी शामिल रहे।