Tuesday, February 27, 2024
बस्ती मण्डल

योग मानव जीवन को संपूर्णता प्रदान करते हुए संसार में प्रवृत्ति से निवृत्ति की ओर ले जाता है-डॉ नवीन सिंह

बस्ती 15जून। भारत स्वाभिमान एवं पतंजलि योग समिति बस्ती द्वारा प्रेस क्लब बस्ती में *सबके लिए योग* विषय पर एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें जिले में आयोजित होने वाले योग शिविरों के विषय मे चर्चा हुई।ओम प्रकाश आर्य जिला प्रभारी भारत स्वाभिमान समिति बस्ती ने बताया कि नवम अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पतंजलि योग समिति एवं भारत स्वाभिमान समिति बस्ती द्वारा 17 से 21 जून तक शिवहर्ष किसान पीजी कॉलेज में प्रातः 5:30 से 7:30 तक आयोजित किया गया है जिसमें महिला पतंजलि योग समिति, युवा भारत एवं किसान पंचायत का सहयोग प्राप्त होगा। इसके अलावा आर्य वीर दल, आर्य समाज, अमर उजाला फाउंडेशन, जन शिक्षण संस्थान, व्यापार मंडल के अलावा नगर पालिका परिषद का भी भरपूर सहयोग मिलेगा।
सुभाष चन्द्र आर्य जिला प्रभारी पतंजलि योग समिति बस्ती ने कहा कि संपूर्ण योग परिसर सूक्ष्म यज्ञ तकनीकी द्वारा सुवासित होगा जिससे परिसर में ऑक्सीजन का उच्च स्तर बनाए रखने में सहायता मिलेगी। योग दिवस 2023 का ध्येय वाक्य *एक विश्व एक स्वास्थ्य* है जो योग की सार्वभौमिकता को सिद्ध करता है।
डॉ नवीन सिंह प्रदेश संयुक्त सचिव इंडियन योग एसोसिएशन उत्तर प्रदेश ने बताया कि योग मानव जीवन को संपूर्णता प्रदान करते हुए संसार में प्रवृत्ति से निवृत्ति की ओर ले जाता है। योग मानव को एक शुद्ध सात्विक एवं दिव्य स्वरूप प्रदान करता है। योग एक जीवन शैली है जो मानव मात्र के लिए ऋषियों द्वारा प्रदत्त ज्ञान है। यह ऊंच-नीच अमीर गरीब सुखी दुखी सबके लिए एक समान स्वीकार्य है। डॉ प्रवेश कुमार संरक्षक पतंजलि योग समिति बस्ती ने कहा कि योग एक स्वाभाविक ज्ञान है जो ना तो देश भेद मानता है और ना ही जाति भेद व वर्ग भेद को मान्यता देता है। यह प्राकृतिक रूप से सबके लिए है जो सभी साधकों को एक समान लाभ देता है।
डॉ वीरेन्द्र त्रिपाठी महामंत्री पतंजलि योग समिति बस्ती ने कहा कि अष्टांग योग से प्रत्येक मानव अपने जीवन को सुसंस्कृत बनाते हुए आत्मा का उत्थान करके चित्त की वृत्तियों पर नियंत्रण कर कैवल्य तक पहुंच सकता है।
प्रभारियों ने बताया कि जिले में यह आयोजन सभी ब्लाकों तहसीलों एवं अन्य चिन्हित स्थानों पर संगठन द्वारा कुशल व प्रशिक्षित योग शिक्षकों द्वारा आयोजित किया जा रहा है जिसमें जागरूकता हेतु आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा निर्धारित योग प्रोटोकॉल का अभ्यास जारी है। इसके अलावा योग शिक्षक आयुर्वेद एवं यज्ञ चिकित्सा के बारे में भी आम जनमानस को जागरूक कर रहे हैं। इस दिशा में किसान सेवा समिति द्वारा जिले के गांवों में किसानों को इसके फायदे बताते हुए जैविक कृषि के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है।
लोगों ने आम जनमानस से अपील किया कि शिविर में आने के लिए ढीले व मर्यादित वस्त्र, अपनी योग मैट या चादर व पानी की बोतल साथ लावे।