Saturday, July 20, 2024
देश

दिल्ली-जयपुर हाईवे पर जल्द शुरू होगा फुट ओवरब्रिज का निर्माण : राव इंद्रजित सिंह (केंद्रीय राज्य मंत्री)

रेवाड़ी 5 सितम्बर 2020 इन्दु/नवीन बंसल (राजनीतिक संपादक)
दिल्ली-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर 6 लेन हाईवे को पार करने के लिए पैदल यात्रियों के लिए आधा दर्जन से अधिक फुटओवर ब्रिज का निर्माण शुरू होने जा रहा है। नेशनल हाईवे अथॉरिटी की ओर से इन फुट ओवर ब्रिज के निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।
केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने बताया कि पिछले दिनों नेशनल हाईवे अथॉरिटी के अधिकारियों को साथ बैठक में उन्होंने पैदल यात्रियों की मांग को गंभीरता से उठाया था, जिसके बाद इन फुट ओवर ब्रिज के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है।
राव ने बताया कि टेंडर प्रक्रिया पूरी होने के बाद फुट ओवर ब्रिज का निर्माण का काम शीघ्र पूरा किया जाएगा। इन फुट ओवर ब्रिज के बनने से दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पार करने वाले पैदल यात्रियों को जान जोखिम में नहीं डालनी पड़ेगी।
उन्होंने बताया कि नेशनल हाईवे अथॉरिटी की ओर से दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर रेवाड़ी जिले में 4 फुट ओवर ब्रिज निर्माण को तत्काल मंजूरी देते हुए उनकी टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर रेवाड़ी जिले की सीमा में जयसिंहपुर खेड़ा , खिजुरी, खरखड़ा, मालपुरा हीरो कंपनी के समीप में बनेंगे।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दिल्ली जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सड़क दुर्घटना में बढ़ोतरी की वजह से एनएचएआई के द्वारा अनेक स्थानों पर कांटो को बंद कर दिया गया है। इनको बंद करने से लोगों की परेशानी तो बढ़ी लेकिन जान का जोखिम काफी कम हो गया है, लेकिन पैदल यात्रियों को अपनी जान जोखिम में डालकर राष्ट्रीय राजमार्ग को पार करना पड़ रहा था। हाईवे को पार करते हुए काफी लोग दुर्घटना का शिकार बन चुके हैं। राव ने कहा कि पिछले वर्ष भी इन स्थानों पर फुटओवर ब्रिज के निर्माण की प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया था। लेकिन टेंडर लेने वाली एजेंसी इनका निर्माण नहीं कर पाई, जिसके बाद दोबारा से टेंडर जारी कर नई एजेंसी को टेंडर देने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। टेंडर प्रक्रिया सितंबर माह तक पूरी कर ली जाएंगी और निर्माण शुरू कर दिया जाएगा।
केंद्रीय राज्य मंत्री ने बताया कि दिल्ली जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग के बावल, कपड़ीवास चौक पर बनने वाले फ्लावर के लिए भी नेशनल हाईवे अथॉरिटी की ओर से प्रक्रिया तेज कर दी गई है। अथॉरिटी के जयपुर डिवीजन की ओर से उच्च अधिकारियों को बावल चौक के लिए करीब 24 करोड रुपए वह कापड़ीवास चौक के लिए करीब 22 करोड़ का एस्टीमेट तैयार कर दिल्ली भेज दिया गया है।