Sunday, April 21, 2024
बस्ती मण्डल

डीएम से वार्ता के आश्वासन पर माने किसान, मुआवजे की मांग को लेकर धरना स्थगित मुआवजा किसानों का अधिकार- सिद्धार्थ सिंह

बस्ती । श्रीराम जानकी मार्ग एनएच-227 ए पर बिना किसानों की भूमि का मुआवजा दिये जबरिया सड़क निर्माण करा लेने के प्रकरण ने शनिवार को नया मोड़ ले लिया। किसान अपने हक की मांग को लेकर समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं आवास विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष सिद्धार्थ सिंह के नेतृत्व में दुबौलिया विकास खण्ड के बैरागल बाग में मास्क, सेनेटाइजर और समान दूरी के साथ धरना शुरू कर दिया। धरने की खबर थाने तक पहुंचते ही धरना स्थल पर पुलिस पहुंची और उसके बाद जिलाधिकारी के प्रतिनिधि के रूप में उप जिलाधिकारी हर्रैया ने आन्दोलित किसानों से वार्ता किया। तंय हुआ कि किसानों का प्रतिनिधि मण्डल सोमवार को जिलाधिकारी से मिलेगा और वार्ता के बाद समस्या का हल निकाल लिया जायेगा। इस आश्वासन पर किसानो ने अपना धरना स्थगित कर दिया।
सपा नेता सिद्धार्थ सिंह ने कहा कि किसाान वार्ता को तैयार हैं और बिना मुआवजा दिये सड़क निर्माण नहीं कराने देंगे। मुआवजा किसानों का अपना अधिकार है। कहा कि रामजानकी मार्ग पर किसानों की आराजी भूमि पर एनएच-227 ए के किलोमीटर संख्या 0.00 से 55 किलोमीटर के मध्य जबरिया कब्जा किया जा रहा है। ऐसे में प्रोजेक्ट मैनेजर के विरूद्ध किसानों की जमीन पर जबरिया कब्जा की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर किसानों के आराजी भूमि की सुरक्षा किया जाय।

धरना स्थल पर बड़ी संख्या में किसान पहुंच गये थे जिनमें मुख्य रूप से दुर्गा प्रसाद पाण्डेय, सुशील सोनी विराट, सत्यलाल, विकास चौधरी, गायत्री देवी, परशुराम, रवि कुमार, कन्हैयालाल, विकास सिंह, धर्मेन्द्र कुमार, शम्भू शंकर आदि शामिल रहे।