Sunday, April 21, 2024
बस्ती मण्डल

चंदापार गाव के रहने वाले दिलीप मिश्रा का मकान बनवाने का डॉक्टर उदय ने उठाया है बीड़ा

संतकबीरनगर:- टूटी फूटी झोपड़ी में गुजर बसर करने वाले चंदापार गाव के रहने वाले दिलीप मिश्रा के लिए समाजसेवी डॉक्टर उदय किसी फरिस्ते से कम नही। भारी बारिश में गरीब का परिवार बिना छत के था और एक टूटी फूटी झोपड़ी में गुजर बसर कर रहा था जब इसकी जानकारी सूर्या एकेडमी के एमडी डॉक्टर उदय को लगी थी तो वह गरीब के घर पहुच गए थे और पक्का मकान देने का बीड़ा उठाया था जिसका निर्माण कार्य अब शुरू हो गया है .

डॉ उदय प्रताप चतुर्वेदी के प्रयास से एक गरीब को जल्द ही उसका आशियाना मिल जाएगा निर्माण कार्य का जायजा लेने के लिए समाजसेवी डॉक्टर उदय प्रताप की टीम चंदा पार गांव पहुंची थी । भरी बरसात मे लगभग डेढ माह पूर्व डा चतुर्वेदी को सूचना मिली कि नाथनगर ब्लाक के ग्राम चन्दापार मे एक गरीब परिवार टाट की फटी छतरी से टपकती छत के नीचे अपने परिवार के मासूमों के साथ ठिठुर कर रात गुजारने को विवश है तो अगले दिन ही उनका कारवां चन्दापार निवासी दिलीप मिश्रा की जर्जर कुटिया पर पहुंच गया। आशियाने की बद्तर स्थिति और बच्चों की बिखरे हालात ने समाज के इस अग्रदूत को भी द्रवित कर दिया।

परिवार की आर्थिक मदद करने के साथ ही उन्होंने मौसम सही होते ही अपनी तरफ से पक्का मकान बनवाने की घोषणा किया। डा चतुर्वेदी की इस घोषणा को गांव और आस पास के लोग भले ही भूली बिसरी यादें समझ बैठे हों लेकिन ऐसे वादे उन्हें रात को सोने भी नही देते थे। अंततः डा चतुर्वेदी के निर्देश पर टीम उदय के सबसे महत्वपूर्ण स्तंभ एवं सूर्या के व्यवस्थापक बलराम यादव ने दिलीप मिश्रा की टूटी कुटिया की जगह उनके परिवार के सपनों का महल तैयार कराने का काम शुरू करा दिया। मंगलवार को निर्माण कार्य का जायजा लेने पहुंचे सूर्या के एमडी के प्रतिनिधि बलराम यादव को अपने सामने पाकर न दिलीप मिश्रा की आंखें बरबस ही छलछला उठीं। दिलीप मिश्रा ने बताया कि दो बड़े कमरे, किचेन और बरामदे की नीव का कार्य अंतिम दौर मे है।

राजगीर और मजदूर से लेकर हर सामान उपलब्ध कराने का जिम्मा बलराम यादव निभा रहे हैं। दिलीप मिश्रा अंततः डा चतुर्वेदी का नाम लेकर उन्हे अपने भगवान तक की उपमा दे डाला। इससे पहले डा चतुर्वेदी ने तरयापार मे यतीम बच्चों के शिक्षा और परवरिश का बीड़ा उठा कर अपनी संवेदनशीलता का नायाब उदाहरण पेश कर चुके हैं। प्रति दिन अपने व्यस्ततम समय के बीच गरीबों और ज़रूरतमंदों के बीच पहुंच उनके सुख दुख का हिस्सा बनने के साथ ही जिले के अनाथ आश्रम के नौनिहालों के बीच प्यार बांटने का भी जिले की स्वयंभू समाज सेवा को आईना दिखा चुका है। इस दौरान अजय मिश्रा, राम अशीष यादव, सुभाष तिवारी सहित तमाम लोग मौजूद रहे।