Saturday, July 20, 2024
बस्ती मण्डल

भीषण कटान से सहमे ग्रामीण तटबंधो पर बढा दबाव

दुबौलिया/ बस्ती। सरयू नदी का जलस्तर एक बार फिर धीमी गति से बढ रहा है।लेकिन भीषण कटान होने से तटबंधो पर दबाव तेज हो गया।जिससे रोकने मे बाढखंड को काफी परेशानिया हो रही है।तटबंधो पर दबाव बढने से तटवर्ती गांव के ग्रामीणो मे दहशत बढ ग्ई है।जिले के अतिसंवेदशील तटबंध कटरिया चादंपुर पर नदी का सीधा रूख तटवर्ती गांव खजान्चीपुर के सामने तेजी से कटान कर रही है।बाध पर कटान रोकने के लिए बाढखंड बोल्डर की जगह मिट्टी भरी बोरियो व पेड की झाड़ से कटान रोकने का प्रयास कर रहा है।शनिवार से इस बाध पर बाढखंड बंबू कैरेट से कटान रोकेगा।शनिवार को नदी केन्द्रीय जल आयोग अयोध्या के अनुसार खतरे के निशान 92.730 से 90 सेंटीमीटर नीचे दर्ज किया गया।वही नदी तेज कटान करते हुए बंजरिया,विशुनदासपुर का पुरवा,खजांचीपुर,खलवा गांव के पास आदि गांव के कृषि योग्य जमीन की कटान करती हुई तटबंध के तरफ बढ रही है।वही गौरा सैफाबाद तटबंध पर बैरागल ग्राम पंचायत के टकटकवा मजरे के पास शनिवार की भोर से ही भीषण कटान शुरू हो ग्ई।देखते ही देखते नदी टकटकवा मजरे के पहले से ही दलपतपुर गांव के सामने तक भीषण कटान हुई और नदी की धारा गौरा सैफाबाद की तटबंध के चंद कदम दूरी पर पहुंच ग्ई।टकटकवा मजरे के ग्रामीणो को लगा की उनका गांव अब कट जायेगा।परेशान ग्रामीण जिले के आलाधिकारियो से फोन कर गुहार लगाने लगे।हालांकि दोपहर बाद ही जिलाधिकारी के आदेश पर बाढखंड के अधिसाषी अभियंता दिनेश कुमार ने कटान रोकने के लिए मरमम्त कार्य शुरू करा दिया।मौके पर पहुचे एसडीएम आनन्द श्रीनेत ने टकटकवा गांव के पास मरम्मत कार्य का जायजा लिया।और टकटकवा मजरे के ग्रामीणो को आश्वशत की उनको बचाने का पूरा प्रयास किया जायेगा।