Tuesday, April 16, 2024
बस्ती मण्डल

जांच में दोषी मिले 7 ग्राम पंचायत सचिव निलंबित

बस्ती । जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन के निर्देशन में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत जनपद के विभिन्न ग्राम पंचायतों में निर्माण कराए जा रहे पंचायत भवन, सामुदायिक शौचालय, अंत्येष्टि स्थल एवं स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अंतर्गत निर्माण कराए जा रहे शौचालयों के निर्माण की गुणवत्ता व प्रगति का स्थलीय निरीक्षण कराया गया । जिसमें निर्माण कार्यों की गुणवत्ता मानक विहीन व खराब पाए जाने तथा समय अंतर्गत निर्माण कार्य पूर्ण न कराने के लिए दोषी पाए गए 7 ग्राम पंचायत सचिवों के विरुद्ध निलंबन की कार्यवाही की गई है।
बताते चलें कि विकासखंड कुदरहा के ग्राम पंचायत सिसई बाबू में सामुदायिक शौचालय का निर्माण कार्य मानक व गुणवत्ता के अनुरूप पूर्ण ना पाए जाने तथा ग्राम पंचायत जगन्नाथपुर में वित्तीय वर्ष 2019 – 20 में आवंटित अंत्येष्टि स्थल के निर्माण हेतु धनराशि ग्राम पंचायत को अंतरित करने के पश्चात अंत्येष्टि स्थल का शत-प्रतिशत निर्माण कार्य तथा शांतिस्थल, शौचालय तथा स्नानागार का निर्माण कार्य पूर्ण ना होने व ग्राम पंचायत पिपरा चंद्रपति विकासखंड साउघाट एवं ग्राम पंचायत हरपालपुर विकासखंड दुबौलिया में निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालय में लग रहे ईट की गुणवत्ता अत्यंत खराब पाए जाने एवं अभी तक आवंटित पंचायत भवन का निर्माण प्रारंभ न कराए जाने एवं ग्राम पंचायत पायका विकासखंड गौर पंचायत भवन प्लिंथ लेवल तक बनने के बावजूद भी पिलर का निर्माण न कराए जाने और अभी तक आवंटित सामुदायिक शौचालय का निर्माण कार्य प्रारंभ ना कराए जाने के फलस्वरूप संबंधित सचिव को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए उनके विरुद्ध निलंबन की कार्यवाही की गई।
इसके अतिरिक्त ग्राम पंचायत पड़री विकास खंड सल्टौवा गोपालपुर में निर्माणाधीन पंचायत भवन में लग रहे ईट की गुणवत्ता बहुत ही खराब पाए जाने पर एवं आवंटित सामुदायिक शौचालय का अभी तक प्रारंभ ना कराने एवं ग्राम पंचायत में कुल 29 शौचालयों के सापेक्ष 6 शौचालय अपूर्ण एवं 23 शौचालय के अनारम्भ पाए जाने के लिए संबंधित सचिव के विरुद्ध निलंबन की कार्यवाही की गई।
इसके अतिरिक्त ग्राम पंचायत डारीडीहा विकासखंड बहादुरपुर, ग्राम पंचायत फेरसन विकासखंड दुबौलिया तथा ग्राम पंचायत बेतौहा विकासखंड सल्टौवा गोपालपुर में आवंटित अंत्येष्टि स्थल निरीक्षण के समय पाया गया कि अंत्येष्टि स्थल अभी तक शत-प्रतिशत पूर्ण कराने के लिए संबंधित सचिव एवं प्रधान दोषी पाए गए तथा ग्राम पंचायत बेतौहा विकासखंड सल्टौवा गोपालपुर में आवंटित अंत्येष्टि स्थल के शांति स्थल का निर्माण न कराए जाने एवं बाउंड्री वाल की लंबाई 32×36 में पाए जाने तथा निर्माण की गुणवत्ता खराब पाए जाने के फलस्वरूप दोषी संबंधित सचिव के विरुद्ध निलंबन की कार्यवाही की गई ।
जिला पंचायत राज अधिकारी ने बताया है कि जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने जनपद के समस्त एडीओ पंचायत, सचिव ग्राम पंचायत, ग्राम प्रधान को निर्देश दिया है कि ग्राम पंचायत में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत आवंटित सामुदायिक शौचालय, पंचायत भवन तथा अंत्येष्टि स्थल के निर्माण कार्य में प्रयुक्त ईट, सरिया, मोरंग के गुणवत्ता के प्रति कोई समझौता नहीं किया जाएगा । गुणवत्ता खराब पाए जाने अथवा समय अंतर्गत पंचायत भवन, सामुदायिक शौचालय एवं अंत्येष्टि स्थल का निर्माण कार्य पूर्ण नहीं होता है तो इसी तरह संबंधित सचिव, प्रधान के साथ-साथ एडीओ पंचायत की भी जिम्मेदारी निर्धारित करते हुए उनके निलंबन की भी कार्यवाही की जाएगी।