Sunday, April 14, 2024
उत्तर प्रदेश

जिंदगी और नौकरी के हमसफ़र बन गए वेद कुमारी एवं मुकेश

-एक ही बस में चालक एवं परिचालक पति पत्नी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की एक बस इन दिनों प्रदेश में चर्चा का विषय बनी हुई है। लोनी डिपो की रोडवेज़ बस पर पति-पत्नी तैनात हैं।

दिलचस्प यह है कि पत्नी के हाथ में रोडवेज़ बस का स्टेयरिंग है और पति यात्रियों के टिकट काटते हैं। जो भी इस अनोखी तस्वीर को देखता है, वहीं हैरत में पड़ जाता है।

इस तस्वीर में रोडवेज़ बस का स्टेयरिंग पर जो महिला को आप देख रहे हैं, वह बुलन्दशहर की रहने वाली वेदकुमारी हैं। वेद कुमारी के पति मुकेश प्रजापति भी इसी रोडवेज़ बस में टिकट काटते हैं। वेदकुमारी संस्कृत विषय में पोस्ट ग्रेजुएट हैं। अभी तक वह दिल्ली पुलिस में भर्ती की तैयारी कर रही थी, लेकिन रोडवेज में महिला चालकों की भर्ती निकलने पर वेद कुमारी ने अपना इरादा बदल कर रोडवेज बस का सारथी बन गई।

कौशल विकास मिशन के तहत उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) के सहयोग से साल 2021 में वेद कुमारी ने माडल ड्राइविंग ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट कानपुर से भारी वाहन चलाने की ट्रेनिंग ली। इसके बाद वेद कुमारी को लोनी डिपो की वर्कशाप में 10 माह के प्रशिक्षण के लिए भेज दिया गया। अप्रैल 2023 में कौशांबी डिपो से वेदकुमारी पहली बार रोडवेज बस का स्टेयरिंग थाम सारथी बन गई। यह दंपति अब कौशांबी से बदायूं रूट पर एक ही रोडवेज बस में जिंदगी और नौकरी के हमसफ़र बन गए हैं।

बताते चले कि वेद कुमारी एक बेटा और बेटी की मां भी हैं। बेटा सूर्यकांत 10वीं और बेटी भाविका केजी में पढ़ रही है। सूर्यकांत ही अपनी बहन का ध्यान रखता है। वेद कुमारी का कहना है फिलहाल वे संविदा पर तैनात है