Friday, February 23, 2024
बस्ती मण्डल

जनपद स्तरीय पराली प्रबंधन जागरूकता गोष्ठी एवं तिलहन मेला का आयोजन किया गया।

बस्ती । कृषि विज्ञान केन्द्र, बंजरिया के प्रांगण में इन सीटू योजनान्तर्गत जनपद स्तरीय पराली प्रबंधन जागरूकता गोष्ठी एवं तिलहन मेला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद प्रतिनिधि जगदीश शुक्ला एवं विशिष्ट अतिथि सरोज बाबा रहें। गोष्ठी में पराली प्रबंधन में बेस्ट डी कम्पोजर से अवशेष को सड़ाने हेतु जानकारी दी गयी और कृषको को बताया गया कि अवशेष जलाने से वातावरण प्रदूषित होता है और जीवाणु नष्ट होते है।
संयुक्त कृषि निदेशक अविनाश चन्द्र तिवारी ने जनपद में बीजों की उपलब्धता के बारे में बताया। कृषि वैज्ञानिक डा. वी.वी. सिंह ने बताया तिलहनी, दलहनी एवं रवी की फसलों पर प्रकाश डालते हुए खरीफ तिलहन की फसल पर विस्तारपूर्वक बताया। उप कृषि निदेशक अनिल कुमार ने किसान सम्मान निधि एवं पराली ना जलाने की अपील किया।
कार्यक्रम में भूमि संरक्षण अधिकारी डा. राजमंगल चौधरी, फसल सुरक्षा अधिकारी, मत्स्य अधिकारी, उद्यान निरीक्षक, भानुप्रकाश त्रिपाठी, सहित परमानन्द सिंह, विश्वनाथ सिंह, आज्ञाराम वर्मा सहित किसान गण उपस्थित रहे।
———–
बस्ती 10 अक्टूॅबर 2023 सू.वि., टीबी मुक्त पंचायत इनिशिएटिव का शुभारंभ विश्व क्षय रोग दिवस के अवसर पर 24 मार्च 2023 को मा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में किया था, जिसका उद्देश्य वर्ष 2025 तक देश को टीबी मुक्त करना है। टीबी मुक्त पंचायत एवं फैमिली केयर गिवर मॉडल पर प्रदेश स्तर पर राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर को प्रशिक्षण प्रदान किया जा चुका है। उक्त जानकारी सीएमओ डा. रमाशंकर दुबे ने दी है।
उन्होने बताया कि ब्लॉक स्तर पर ग्राम पंचायतों में टीबी के लक्षणों, जांच एवं इलाज पर चर्चा होने के लिए, पंचायत की विकास योजनाओं में टीबी मुक्त पंचायत की गतिविधियों को शामिल किये जाने तथा टीबी मुक्त करने हेतु समस्त ग्राम प्रधान, सीएचओ, ग्राम्य विकास अधिकारी को जनपद स्तर पर मास्टर ट्रेनर्स को दिनांक 9 अक्टूबर और 10 अक्टूबर को प्रत्येक ब्लाक के 3 मास्टर ट्रेनर को नामित करते हुए प्रशिक्षण प्रदान किया गया।
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर रमा शंकर दूबे ने बताया कि टीबी मुक्त पंचायत अभियान के पहले चरण में जिला स्तरीय प्रशिक्षक ब्लाक स्तर पर ग्राम प्रधान, ग्राम विकास अधिकारी, पंचायत मित्र, सीएचओ, आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्त्री को प्रशिक्षित करेंगे। प्रशिक्षण लेने के बाद यह लोग समुदाय को टी बी के लक्षण , रोक थाम , भ्रांतियों को दूर करने, जांच, उपचार एवं उपलब्ध सुविधाओं के बारे में लोगो को जागरूक करेंगे।
मुख्य चिकित्सा अधीक्षक टीबी चिकित्सालय डॉक्टर राम प्रकाश ने क्षय रोग के लक्षण की जानकारी, संक्रमण के फैलाव की जानकारी तथा निःशुल्क जांच एवं इलाज हेतु संभावित क्षय रोगी को निकटतम सरकारी स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाने हेतु ग्राम प्रधान को जागरूक करने के लिए कहा। समाज में टीबी रोग के प्रति फैली भ्रांतियों को दूर करने का सलाह दिया गया।
राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर डॉ सैयद मोईन अख्तर एवं जिला कार्यक्रम समन्वयक अखिलेश चतुर्वेदी द्वारा विस्तृत रूप से ट्रेनिंग के सभी मॉड्यूल पर चर्चा किया गया और सभी के जिम्मेदारियों के बारे में लोगो को बताया गया। ग्राम पंचायत विकास योजना में टीबी मरीजो के सहयोग हेतु योजना तैयार करना तथा जनांदोलन बनाते हुए एकजुट होकर कार्य करने के बारे में बताया गया। टी बी मुक्त पंचायत हेतु विभिन्न इंडिकेटर पर चर्चा किया। इस अवसर पर पंचायती राज विभाग के नामित सभी अधिकारी गण, स्वास्थ्य विभाग के ब्लॉक स्तरीय नामित जनपद के सभी मास्टर ट्रेनर उपस्थित रहे। प्रशिक्षण के अंत में सभी प्रतिभागी को प्रमाणपत्र प्रदान किया गया।