Saturday, March 2, 2024
बस्ती मण्डल

पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर बीएसए कार्यालय पर शिक्षकोें का धरना 21 कोः बैठक में बनी रणनीति

बस्ती। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल की अध्यक्षता में सोमवार को प्रेस क्लब सभागार में पेंशन बहाली संयुक्त मंच ‘एन.जे.सी.ए.’ राष्ट्रीय नेतृत्व के आवाहन पर बैठक कर संघर्ष की रणनीति तय की गई। बैठक में संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने कहा कि 21 अक्टूबर को पुरानी पेंशन बहाल किये जाने के एक सूत्रीय मांग को लेकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर धरना प्रदर्शन के बाद पदयात्रा करते हुये जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन सौंपा जायेगा। कहा कि शिक्षकों, कर्मचारियों के समक्ष करो या मरो जैसे हालात है। पुरानी पेेंशन बहाल हो इसके लिये हर स्तर पर संघर्ष की धार को तेज करना होगा। कहा कि धरना प्रदर्शन की तैयारियां पूरी की जा चुकी है, शिक्षक अपने बेहतर भविष्य के लिये इस राष्ट्र व्यापी आन्दोलन में अनिवार्य रूप से अपनी उपस्थिति दर्ज करायें। कहा कि मंगलवार से 20 अक्टूबर तक संगठन पदाधिकारी विद्यालयोें में भ्रमण कर समस्त विद्यालय परिवार से सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करायेंगे।

संघ के जिला मंत्री राघवेन्द्र प्रताप सिंह, सतीश शंकर शुक्ल, शशिकान्त दूबे, राजकुमार सिंह, शैल शुक्ल, महेश कुमार, दिवाकर सिंह, सरिता शुक्ल, रीता शुक्ल जिला प्रवक्ता सूर्य प्रकाश शुक्ल आदि ने कहा कि शिक्षक और कर्मचारियों के लिये पुरानी पेंशन बुढापे की लाठी है। कई राज्य सरकारोें ने इसे लागू भी कर दिया है किन्तु केन्द्र की सरकार इस दिशा में गंभीर नही है। कहा कि जब तक पुरानी पेंशन बहाल नहीं हो जाती चरणबद्ध ढंग से आन्दोलन जारी रहेगा। पेंशन शिक्षकों, कर्मचारियोें का अधिकार है, इसे लेकर रहेंगे। कहा कि पुरानी पेंशन लागू करना ही होगा। इसके लिये शिक्षक और कर्मचारी हर स्तर के संघर्ष के लिये तैयार रहेें। यदि अभी न चेते तो बुढापे में चौतरफा संकट झेलना होगा।
बैठक में मुख्य रूप से आशुतोष पाण्डेय, रामपाल चौधरी,वेद प्रकाश, चन्द्रशेखर पाण्डेय, बब्बन पाण्डेय, रमेश विश्वकर्मा, शशिकान्त धर द्विवेदी, रविन्द्र पाण्डेय, आनन्द सिंह, उमाशंकर त्रिपाठी, पाटेश्वरी प्रसाद निषाद, धर्मेन्द्र कुमार उपाध्याय, अरविन्द कुमार पाण्डेय, नरेन्द्र कुमार द्विवेदी, रविश मिश्र, विवेककान्त पाण्डेय, सन्तोष शुक्ल, त्रिलोकीनाथ, विनोद यादव, रक्षाराम वर्मा, ओम प्रकाश पाण्डेय, रामयज्ञ वर्मा, अशोक कुमार पाण्डेय, विनोद कुमार गौतम, राधेश्याम मिश्र, विजय प्रताप वर्मा, कृष्ण कुमार, कन्हैयालाल भारती, आशीष पाण्डेय, राघवेन्द्र प्रताप सिंह, ओंकार उपाध्याय, रमेश चौधरी, हरिकृष्ण उपाध्याय, कृष्ण कुमार, गिरिजाशंकर चौधरी, अश्विनी कुमार पाण्डेय, विजय कुमार, सुनील कुमार, राजीव कुमार पाण्डेय, रामचन्द्र गुप्ता, रविन्द्र पाण्डेय के साथ ही अनेक शिक्षक और संघ पदाधिकारी शामिल रहे।