Sunday, May 19, 2024
बस्ती मण्डल

शिक्षा जगत के मालवीय पंडित सूर्यनारायण चतुर्वेदी के पाचवी पुण्यतिथि मे भिटहा में उमड़ा जनसैलाब

-पूर्व विधायक जय चौबे बड़े पुत्र डॉक्टर उदय प्रताप चतुर्वेदी के साथ पूर्व ब्लॉक प्रमुख राकेश चतुर्वेदी ने पूरे परिवार के साथ दीप प्रज्वलन और पुष्प अर्पित करते हुए श्रद्धांजलि सभा कार्यक्रम की करी शुरुआत

संतकबीरनगर। पूरे मण्डल में शिक्षा के क्षेत्र में अलख जगाने वाले स्व. पं सूर्य नारायण चतुर्वेदी की पाचवी पुण्य तिथि पर मंगलवार को उनके पैतृक गांव भिटहा में एक भव्य श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। श्रद्धांजलि सभा मे पूर्वांचल के दिग्गज शिक्षाविदों, राजनीतिज्ञों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम में पहुंच कर अपनी नम आंखों से उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया। नाथनगर ब्लाक क्षेत्र के ग्राम भिटहा के मूल निवासी पं. सूर्य नारायण चतुर्वेदी ने एक साधारण किसान परिवार मे जन्म लिया था। कबीर की धरती पर फैले शैक्षणिक अंधकार की पीड़ा ने उन्हें कुछ यूं विचलित किया कि अपने त्याग, दृढ़ इच्छाशक्ति और समर्पण की बदौलत पूर्वांचल के मालवीय का दर्जा लोग देने लगे। खलीलाबाद के पूर्व विधायक दिग्विजय नारायण उर्फ जय चौबे ने कहा कि अपने त्याग और बलिदान का नायाब उदाहरण प्रस्तुत करते हुए उन्होंने पूर्वांचल को आधुनिक और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में ऐतिहासिक आयाम स्थापित किया है इतना ही नहीं उन्होंने अपने जीवन काल में पूर्वांचल के अन्य जनपदों में भी शिक्षा के स्तर को ऊपर उठाने के लिए अनेक संस्थाएं भी स्थापित कर एक कीर्तिमान स्थापित किया। उन्हीं के याद में चतुर्वेदी परिवार के सूर्या इंटरनेशनल एकेडमी खलीलाबाद के प्रबन्ध निदेशक व समाजसेवी डा. उदय प्रताप चतुर्वेदी व नाथनगर ब्लाक के पूर्व ब्लाक प्रमुख एवं एस आर इंटरनेशनल नेशनल एकेडमी नाथनगर के प्रबन्ध निदेशक राकेश चतुर्वेदी रत्नेश चतुर्वेदी सहित पूरा चतुर्वेदी परिवार ने अपने पैतृक गांव भिटहा में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया कार्यक्रम के दौरान दलीय राजनीति से ऊपर उठकर विभिन्न पार्टियों के जनप्रतिनिधि और नेता गण तथा अधिकारियों समेत क्षेत्र की तमाम जनता और शिक्षण संस्थानों के तथा अध्यापक गण भी श्रद्धांजलि सभा में अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए सभी लोगों ने वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच स्वर्गीय श्री चतुर्वेदी के चित्र पर माल्यार्पण व पुष्प अर्पित कर अपने नम आंखों से श्रद्धा सुमन अर्पित की श्रद्धांजलि सभा में उमड़े जनसैलाब ने यह साबित कर दिया कि स्वर्गीय पंडित सूर्यनारायण चतुर्वेदी शिक्षा जगत से लेकर राजनीति जगत आज की एक मसीहा थे।उमड़े जन सैलाब ने शैक्षणिक जगत के पितामह को श्रद्धा और सम्मान के साथ श्रृद्धांजलि अर्पित किया। ‘तुमको ना भूल पाएंगे’ की दिल मे टीस लिए जब चतुर्वेदी परिवार अपनी श्रृद्धांजलि देने के लिए स्व चतुर्वेदी के चित्र के सामने पहुंचा तो पूरा परिवार उन्हे याद करके फफक पड़ा। सूर्या के एमडी डा उदय प्रताप चतुर्वेदी, एसआर के एमडी राकेश चतुर्वेदी, उनकी माता, बहुएं सविता चतुर्वेदी, शिखा चतुर्वेदी, भतीजे सदर पूर्व विधायक जय चौबे, जनार्दन चतुर्वेदी, रत्नेश चतुर्वेदी, अखण्ड प्रताप चतुर्वेदी, राजन चतुर्वेदी और रजत चतुर्वेदी भी फफक कर रो पड़े। कुछ पलों के लिए तो ‘चतुर्वेदी विला’ का भव्य एवं खचाखच भरा परिसर गम और सन्नाटे मे डूब गया। परिवार की मुखिया ने अपनी दोनों बहुओं सविता चतुर्वेदी और शिखा चतुर्वेदी के साथ मौके पर मौजूद क्षेत्र की सैकडों गरीब महिलाओं को अंग वस्त्र और नकद धनराशि दान किया। इस मौके पर सदर विधायक जय चौबे, डा. उदय प्रताप चतुर्वेदी, नाथनगर के पूर्व ब्लाक प्रमुख डायरेक्टर राकेश चतुर्वेदी, रत्नेश चतुर्वेदी द्वारा श्रद्धांजलि सभा में आए हुए सभी लोगों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम के दौरान जहां पूर्व कैबिनेट मंत्री राम प्रसाद चौधरी ने कार्यक्रम में पहुंचकर स्वर्गीय पंडित सूर्य नारायण चतुर्वेदी के श्रद्धांजलि सभा में पहुंचकर उसे पर अर्पित किया वहीं हजारों लोगों ने श्रद्धांजलि सभा में पहुंचकर नम आंखों से श्रद्धांजलि दी।