Saturday, June 22, 2024
बस्ती मण्डल

जिले के दर्जनों सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों पर गांधी एवं शास्त्री जी के जन्मदिन पर विविध कार्यक्रमो का आयोजन

बस्ती। राष्ट्रपिता महॉत्मा गॉधी तथा पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पूरे जिले में समारोहपूर्वक मनाई गई। सरकारी तथा गैर सरकारी कार्यालयों में राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया, राष्ट्रगान गाया गया तथा राष्ट्रीय एकता और अखण्डता की शपथ दिलायी गयी। दोनों महापुरुषों के चित्र का अनावरण करके फूल माला चढ़ाई गई।
मंडलायुक्त कार्यालय पर मंडलायुक्त अखिलेश सिंह ने गोष्ठी में कहा कि दोनों महापुरूषो में आत्मिक बल था। दोनो महापुरूषों की कथनी, करनी और रहनी एक समान थी। दोनों ने सामान्य व्यक्ति की तरह रहते हुए देश की सेवा किया। गॉधी जी किसी प्रकार के आडम्बर में विश्वास नही रखते थे। उन्होने असमानता और भेदभाव दूर करने का प्रयास किया। पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री ने पाकिस्तान से युद्ध जीतकर तथा खाद्यान्न के मामले में आत्मनिर्भर बनकर अपने दृढ इच्छाशक्ति एवं प्रशासनिक क्षमता का लोहा मनवाया। दोनों महापुरूषो की निगाह में कोई काम छोटा या बड़ा नही था। उन्होने जीवन में स्वच्छता अपनाया, प्रकृति के निकट रहें तथा लोगों की समस्याओं का पूरी गम्भीरता से निराकरण किया।
गोष्ठी को अपर आयुक्त प्रशासन राजीव पाण्डेय, संयुक्त विकास आयुक्त पद्मकान्त शुक्ल, उप निदेशक पंचायतीराज समरजीत यादव, रमेश कुमार, संतोष पाण्डेय, शैलेष कुमार ने भी संबोधित किया। गोष्ठी का संचालन जीतेन्द्र श्रीवास्तव ने किया। राजकीय बालिका इण्टर कालेज की छात्राओं रोजी अख्तर, रागिनी, नित्या पाण्डेय, तोशिबा, खुशी गौड़ ने शिक्षिका पूर्णिमा श्रीवास्तव के नेतृत्व में गॉधी का प्रियभजन रधुपति राघव राजाराम, वैष्णवजन देने कहिए तथा राष्ट्रभक्ति गीत प्रस्तुत किया। इस अवसर पर उपनिदेशक दिव्यांगजन अनूप कुमार सिंह, मनोज श्रीवास्तव, अनुपम चौधरी, समीम अहमद, संदीप यादव तथा आयुक्त कार्यालय के कर्मचारीगण उपस्थित रहें। इस अवसर पर अधिकारियों-कर्मचारियों ने महात्मा गॉधी व लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर फूल माला चढाया।
कलेक्टेªट में महात्मा गॉधी के 154वॉ जन्म दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी अंद्रा वामसी ने ध्वजारोहण किया। सामूहिक राष्ट्रगान के बाद एकता और अखण्डता की शपथ दिलायी गयी। उन्होने गॉधी जी व लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर माल्यार्पण किया। सभाकक्ष में आयोजित गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए उन्होने ‘दे दी हमें आजादी बिना खडग, बिना ढाल‘ इसके तात्पर्य को स्पष्ट करते हुए कहा कि शान्ति, अहिंसा के पथ पर आगे बढते हुए गॉधी जी ने देश को आजादी दिलायी। आज विविधता में एकता स्थापित करना हमारा उद्देश्य होना चाहिए तथा उनके संदेश को हम सभी को आत्मसात करना चाहिए, जिससे की गॉधी जी का सपना साकार हो सके।
उन्होने कहा कि सत्य, अहिंसा की शिक्षा हमें अपने बच्चों को भी देनी चाहिए, जिससे वह सत्य के मार्ग पर चलें। उन्होने अधिकारियो-कर्मचारियों से कहा कि हमें अपने कर्तव्यों के प्रति सत्यनिष्ठा से कार्य करना चाहिए। उन्होने ग्राम स्वराज, स्वच्छ भारत के विषय पर प्रकाश डालते हुए जानकारी को साझा किया। इसके उपरान्त जिलाधिकारी ने गॉधी कला भवन में पहुॅचकर महात्मा गॉधी के प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया तथा वहॉ उपस्थित झाकी में प्रतिभाग करने वालों नन्हें-मुन्हें बच्चों से बातचीत भी किया।
इस अवसर पर जीआईसी की छात्राओं द्वारा देशभक्ति गीत प्रस्तुत किया गया। अपर जिलाधिकारी कमलेश चन्द्र ने गॉधी जी के सर्वोदय की भावना पर प्रकाश डाला। मुख्य राजस्व अधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी, उप जिलाधिकारी रमेश यादव व शत्रुधन पाठक ने उनके सत्य के आग्रह की विशेषता बताया।
इस अवसर पर के. के. उपाध्याय, जगवीर सिंह, मथुरादत्त जोशी ने अपने-अपने विचारों को प्रकट किया। मोहम्मद रफीक व काजी अनवार ने शायराना अन्दाज में सर्वधर्म सम्भाव के गीत गाये। गोष्ठी का संचालन वरिष्ठ सहायक अशोक मिश्र ने किया। इस अवसर पर मुख्य कोषाधिकारी अशोक कुमार प्रजापति, सूर्यलाल, मो. मुस्तवा, सत्येन्द्र पाण्डेय सहित गणमान्य नागरिक उपस्थित रहें।
विकास भवन में सीडीओ जयदेव सी.एस. ने राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद गांधी जी एवं शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण किया। सामूहिक राष्ट्रगान के बाद एकता और अखण्डता की शपथ दिलायी गयी। इस अवसर पर विकास भवन सभागार में गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पीडी राजेश झा, जिला विकास अधिकारी निर्मल कुमार द्विवेदी एवं संबंधित विभागीय अधिकारी तथा कर्मचारी गण उपस्थित रहें।