Saturday, June 22, 2024
बस्ती मण्डल

पुरानी पेंशन बहाली के लिये बनी रणनीतिः प्राथमिक षिक्षक संघ कुदरहा के पदाधिकारी घोषित

बस्ती । शुक्रवार को उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक षिक्षक संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल की अध्यक्षता में कुदरहा बी.आर.सी. पर पेंशन बहाली संयुक्त मंच ‘एन.जे.सी.ए. राष्ट्रीय नेतृत्व के आवाहन पर संघर्ष की रणनीति तय की गई। बैठक में संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने कहा कि आगामी 21 सितम्बर को पुरानी पेंशन बहाल किये जाने के एक सूत्रीय मांग को लेकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर धरना देकर एन.पी.एस. का पुतला फूंकने के साथ ही ज्ञापन भेजा जायेगा। बैठक में सर्व सम्मत से कुदरहा विकास क्षेत्र के पदाधिकारियोें ओम प्रकाश पाण्डेय मंत्री, डा. कैलाश मौर्य, अभिनव कुमार कश्यप, धर्मेन्द्र गोंड़, आरती पाण्डेय उपाध्यक्ष और जगदीश प्रसाद, शिवाजी पाण्डेय, ममता को संगठन मंत्री का दायित्व सौंपा गया। संघ अध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने घोषित पदाधिकारियों को पद और गोपनीयता का शपथ दिलाया।
संघ की जिला संगठन मंत्री एवं बहादुरपुर ब्लाक अध्यक्ष रीता शुक्ला ने, जिला उपाध्यक्ष आनन्द दूबे कहा कि पुरानी पेंशन शिक्षक और कर्मचारियों के बुढापे की लाठी है। कई राज्य सरकारोें ने इसे लागू भी कर दिया है किन्तु केन्द्र की सरकार इस दिशा में गंभीर नही है। वक्ताओं ने कहा कि जब तक पुरानी पेंशन बहाल नहीं हो जाती चरणबद्ध ढंग से आन्दोलन जारी रहेगा। पेंशन शिक्षकों, कर्मचारियोें का अधिकार है, इसे लेकर रहेंगे। कुदरहा व्लाक अध्यक्ष चन्द्रभान चौरसिया ने उपस्थित पदाधिकारियोें का स्वागत करते हुये कहा कि 21 सितम्बर के धरने में कुदरहा व्लाक की शत प्रतिशत भागीदारी रहेगी।
बैठक को चन्द्रिका प्रसाद सिंह, कृष्ण कुमार वर्मा, रविन्द्र वर्मा, भैयाराम राव, अमित श्रीवास्तव, राजेश चौधरी आदि ने सम्बोधित किया। कहा कि पुरानी पेंशन बहाल किये जाने तक चरणबद्ध आन्दोलन जारी रहेगा। मुख्य रूप से भूपेन्द्र चौधरी, राम प्रकाश यादव, बुद्धिराम यादव, गोपाल जी, भगवानदीन, राघवेन्द्र प्रताप सिंह, अर्चित पाण्डेय, नीरज पाण्डेय, नरोत्तम सिंह, सुरेन्द्र पटेल, सुनील यादव, सतीश त्रिपाठी, विषई वर्मा, किरन सिंह, मीना, रंगीलाल, भीमशंकर, रामनरायन चौधरी, अरविन्द कुमार यादव, राजेन्द्र प्रसाद सिंह, चन्द्रशेखर त्रिपाठी, प्रवेश कुमार, उमेश कुमार, प्रदीप कुमार, रामवृक्ष, राहुल कुमार के साथ ही अनेक शिक्षक और संघ पदाधिकारी शामिल रहे।