Monday, March 4, 2024
दिल्ली

नशामुक्ति अभियान के कार्यक्रम में जागरूकता फैलाने के लिए साहस इंडिया फाउंडेशन ने बांटा एक हजार बैग

नई दिल्ली। आजादी के अमृत महोत्सव के अमृत काल में आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर 9 अगस्त 1942 अगस्त क्रांति दिवस को नशामुक्त भारत अभियान के तहत अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन की तर्ज पर आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार में राज्य मंत्री व पारख महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं “नशामुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल का” के अध्यक्ष कौशल किशोर के नेतृत्व में दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में ‘हिन्दुस्तानियों नशा छोड़ो” संकल्प समारोह कार्यक्रम संपन्न हुआ। जिसमे पूरे देश से कई हजार की संख्या में आए युवाओं, महिलाओ, वकील, डॉक्टर, किसान, मजदूर, समाजसेवी संगठन, फिल्म जगत के कलाकार, गायक, डायरेक्टर, प्रोड्यूसर, धर्मगुरु, कालेज स्कूल के प्रधानाचार्य, शिक्षक व तमाम शिक्षण संस्थानों के स्टाफ, खेल जगत में विभिन्न क्षेत्रों के खिलाड़ी, प्राइवेट संस्थानों में और सरकारी संस्थानों के कर्मचारी अलग अलग प्रदेश से आए करीब 2000 संगत के अनुयाई व आदि लोगों ने सम्मिलित होकर सामूहिक रूप से नशामुक्त भारत बनाने का संकल्प लिया।

जिसमें साहस इंडिया फाउंडेशन ने अपनी तरफ़ से नशामुक्ति अभियान आंदोलन में कंधे से कंधा मिलाकर चलते हुए समाज के लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए एक हजार बैग वितरित किये। इस आयोजन की तैयारियों में जुटी साहस इंडिया की पूरी टीम ने कड़ी मेहनत की। जिसके लिए केंद्रीय राज्य मंत्री ने साहस इंडिया फाउंडेशन की पूरी टीम का धन्यवाद ज्ञापित किया। और कहा अगर ऐसे ही युवाओं की टीम साथ आती रहीं तो निश्चित तौर पर एक दिन हमारा देश नशामुक्त देश होगा। इस कार्यक्रम में साहस टीम से शशिकान्त मिश्रा, अरुण सिंह, अमित जैन, मनजीत लोहान, सुरेंद्र, हिमांशु, राम भजन, उदय आदि लोग मौजूद थे।
मालूम हो कि मंत्री जी के पुत्र आकाश किशोर की मृत्यु अत्यधिक शराब के सेवन से हो गयी थी। जिसके बाद उन्होंने संकल्प लिया इस देश को दीमक की तरह चालने वाले नशे को इस समाज से दूर भगाना है।
अंत में केंद्रीय राज्यमंत्री कौशल किशोर जी व अन्य गणमान्य जनों द्वारा नशे के अंधेरे के खिलाफ दीप प्रज्ज्वलित कर संदेश दिया कि “हम उन चिरागों को जलाए रखना चाहते हैं जो असमय नशे की आंधी में बुझ जाते हैं”