Friday, February 23, 2024
बस्ती मण्डल

चन्द्र प्रकाश चौधरी ने बनाया महुआ डाबर के क्रान्तिवीर पिरई खां की पेंटिग

बस्ती। हमारे ख्यातनाम स्वतंत्रता सेनानियों के अलावा ऐसे बहुत से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रहे हैं जिनके नाम इतिहास की किताबों के पन्नों से गायब हैं। या लोग इन लोगों के बारे में बहुत कम जानते हैं, जिनमे एक नाम क्रान्तिवीर पिरई खां का है जिनके नेतृत्व मे महुआ डाबर गांव से गुजर रहे फिरंगियों से दो-दो हाथ करने के लिए पूरा इलाका एकजुट हो गया था पिरई खां के नेतृत्व में लाठी-डंडे, तलवार, फरसा, भाला आदि लेकर यहां के रहवासियों की टुकड़ी ने मनोरमा नदी पार कर रहे अंग्रेज अफसरों पर 10 जून 1857 को हमला बोल दिया, लेफ्टिनेंट लिंडसे, लेफ्टिनेंट थामस, लेफ्टिनेंट इंगलिश, लेफ्टिनेंट रिची, लेफ्टिनेंट काकल और सार्जेंट एडवर्ड को मौत के घाट उतार दिया, तोपची सार्जेंट बुशर जान बचाकर भागने में सफल रहा, उसने ही घटना की जानकारी वरिष्ठ अफसरों को दी, इस क्रांतिकारी घटना ने ब्रिटिस हुकुमत नीव हिला दी थी।
राष्ट्रीय स्तर पर अपनी अद्भुत कला प्रतिभा से पहचान कायम करने वाले जनपद बस्ती के प्रसिद्ध चित्रकार चन्द्र प्रकाश चौधरी ने क्रान्तिवीर पिरई खां की जलरंग माध्यम से कागज पर बहुत ही मनमोहक चित्र उकेरा है । चित्रकार चन्द्र प्रकाश चौधरी ने कहा कि बस्ती जनपद के गुमनाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को आज की नई पीढ़ी से परिचय करवाने के लिए तथा उनकी वीर गाथाओं को जनमानस में उजागर करने के लिए चित्र सृजन का कार्य कर रहा हूं । बताते चले कि चन्द्र प्रकाश चौधरी ने इससे पहले अमर शहीद राजा शिवगुलाम सिंह, नगर के राजा उदय प्रताप सिंह, अमौढ़ा के राजा जालिम सिंह, महारानी तलाश कुंवरि की पेंटिग बनाई है, जनमानस मे बहुत लोकप्रिय हुई है।