Friday, February 23, 2024
बस्ती मण्डल

मणिपुर में राष्ट्रपति शासन की मांग, भेजा ज्ञापन

बस्ती । मणिपुर में आदिवासी महिलाओं को निवस्त्र घुमाये जाने, बलात्कार, आये दिन हिंसा और हत्या मामले को लेकर जन आक्रोश बढ़ता जा रहा है। इसी कड़ी में शनिवार को आम आदमी के पूर्व जिलाध्यक्ष पतिराम आजाद के संयोजन में अनेक राजनीतिक दलों के नेताओ, कार्यकर्ताओं ने जिलाधिकारी के प्रशासनिक अधिकारियों के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा। मांग किया कि मणिपुर के मुख्यमंत्री को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाय।
ज्ञापन देने के बाद ‘आप’ के पूर्व जिलाध्यक्ष पतिराम आजाद ने कहा कि मणिपुर में खुले आम नरसंहार की घटनाओं से स्पष्ट है कि सरकार उसे रोक पाने में पूरी तरह से विफल है। आदिवासियोें, दलितों पर जुल्म ढाने के साथ ही क्रूरतम हत्यायें की जा रही है। संविधान और कानून का खुला उल्लंघन हो रहा है। मणिपुर की हिंसक घटनायें, हत्या देश के माथे पर कलंक हैं। मांग किया कि राष्ट्रपति स्वयं संज्ञान में लेकर मणिपुर में राष्ट्रपति शासन की पहल करेें। कहा कि केन्द्र की सरकार मणिपुर की घटना पर संसद में चर्चा को लेकर भी गंभीर नहीं है, लोकतंत्र के मायने बदल गये हैं। ऐसे में मणिपुर पर कठोर कदम उठाने ही होंगे।
जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से अजीत यादव, रामराज, जे.पी. गौतम, सुरेश चन्द्र यादव, जगन्नाथ मौर्य, साधूशरन आर्य, यदुराम यादव के साथ ही अनेक राजनीतिक दल और सामाजिक संगठनों के लोग उपस्थित रहे।