Monday, March 4, 2024
साहित्य जगत

सुधीर श्रीवास्तव के जन्मदिन व ओम जी के वैवाहिक वर्षगाँठ की पूर्व संध्या पर विशेष आयोजन संपन्न

अंतरराष्ट्रीय श्रेया क्लब पटल के मार्गदर्शक आ. सुधीर श्रीवास्तव जी के जन्म दिवस तथा ओम प्रकाश श्रीवास्तव के वैवाहिक वर्षगांठ ( दि.01/07/2023 ) की पूर्व संध्या पर बधाई एवं शुभकामना से युक्त आनलाइन काव्य गोष्ठी का सफल आयोजन साहित्यजगत के जाने-माने पटल अंतर्राष्ट्रीय श्रेया क्लब पर संपन्न हुआ।

ज्ञातव्य हो की हिंदी साहित्य के जाने-माने सर्व सम्मानित एवं सबके प्रिय सुधीर श्रीवास्तव का जन्म दिवस 1 जुलाई को होता है तथा नवांकुर साहित्यकार एवं शिक्षक ओम प्रकाश श्रीवास्तव एवं प्रीत श्रीवास्तव की वैवाहिक वर्षगांठ भी 01 जुलाई को होती है। । अंतरराष्ट्रीय श्रेया क्लब संस्थापिका डा. अर्चना श्रेया जी के निर्देशन में संयोजक सतीश शिकारी जी वो अन्य पदाधिकारियों ने इसी उपलक्ष्य में 30 जून की शाम में एक काव्य गोष्ठी का आयोजन हिंदी जगत के जाने-माने साहित्यकार श्री संतोष श्रीवास्तव विद्यार्थी की अध्यक्षता एवं श्री शरद नारायण खरे के विशिष्ट आतिथ्य में आयोजित की गई।
कार्यक्रम में देश के विभिन्न प्रांतों के जाने-माने साहित्यकारों ने अपने अपने अंदाज में अपनी अपनी रचनाओं के द्वारा सुधीर श्रीवास्तव एवं ओम प्रकाश श्रीवास्तव को शुभकामना संदेश प्रेषित किए। सभी की रचनाएं एक से बढ़कर एक भाव पक्ष एवं कला पक्ष से सुसंगत थीं।
कार्यक्रम का शुभारंभ संतोष श्रीवास्तव विद्यार्थी जी की सरस्वती वंदना के साथ हुआ।
सुधीर श्रीवास्तव ने अपनी हास्य रचना”यमराज की शुभकामना”से सभी को लोटपोट कर दिया।साथ ही सभी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त कर सभी का आशीर्वाद प्राप्त किया।

आज के इस आयोजन में जिन सम्मानित हस्तियों ने अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की उनमें मुख्य रूप से
हिमाँशु पाठक हल्द्वानी उत्तराखंड, रामजी त्रिवेदी फर्रुखाबाद उत्तर प्रदेश, रामनिवास तिवारी आशुकवि निवाड़ी मध्यप्रदेश, डाॅ कृष्णा जोशी इन्दौर मध्यप्रदेश, रमेश कुमार द्विवेदी चंचल सुल्तानपुर उत्तर प्रदेश, गणेश प्रसाद गौतम प्रज्ञेश, बाबू भण्डारी “हमनवा”, विंध्यवासिनी तिवारी जमशेदपुर झारखंड, डॉ. आलोक रंजन कुमार, जपला, झारखंड , डॉ. मीना कुमारी परिहार, बिहार , शिवनाथ सिंह “शिव”रायबरेली, विनीता लवानियां बेंगलुरु, भुलक्कड़ बनारसी, अविनाश खरे, पुणे, खालिद हुसैन सिद्दीकी लखनऊ, गोपाल सिंह दंडोतिया, डा मनोज फगवाड़वी, रमा बहेड , बृजबाला श्रीवास्तव सुमन आजमगढ़, ममता सक्सेना मथुरा एवं पटेल की अध्यक्षा अर्चना श्रेया जी शामिल रहीं। कार्यक्रम का मधुमय संचालन जाने-माने साहित्यकार सतीश शिकारी ने किया। वास्तव में इस प्रकार के कार्यक्रम हिंदी साहित्य जगत में हिंदी साहित्य व साहित्यकारों के प्रेम को दर्शाते हैं।
अंत में सुधीर श्रीवास्तव ने अपनी हास्य रचना”यमराज की शुभकामना”से सभी को लोटपोट कर दिया। साथ ही सभी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त कर सभी का आशीर्वाद प्राप्त किया।
कार्यक्रम का समापन श्री संतोष विद्यार्थी ने सभी को आभार प्रकट करके किया। संस्थापिका डा. अर्चना श्रेया खराब स्वास्थ्य के बावजूद पूरे समय उपस्थित रहकर सभी का उत्साह वर्धन करती रहीं।