Wednesday, July 24, 2024
बस्ती मण्डल

एनपीएस को प्रान एकाउंट में अपडेट कराए डीआईओएस- संजय द्विवेदी

बस्ती। जिला विद्यालय उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ का प्रतिनिधि मंडल मण्डलीय मंत्री संजय द्विवेदी के नेतृत्व में संयुक्त शिक्षा निदेशक मनोज कुमार द्विवेदी व उप शिक्षा निदेशक ओमप्रकाश मिश्रा से मिला। श्री द्विवेदी ने कहा कि बस्ती मंडल में एनपीएस अंशदान की कटौती प्राण अकाउंट में अपडेट नहीं हो पा रहा है। जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा सेवानिवृत्त पुल शिक्षकों के रिन्यूवल में कठिनाई उत्पन की जा रही है, जिससे आक्रोश बढ़ता जा रहा है। श्री द्विवेदी ने बताया कि जिला विद्यालय निरीक्षक संतकबीरनगर भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। रिश्वत लेकर उमरिया, सिरसी , प्रहलादराय बालिका इंटर कॉलेज व हीरालाल रामनिवास इंटर कॉलेज में समितियों से तालमेल कर शिक्षकों का उत्पीड़न कर रहे हैं। नियम-कानून को ताक पर रखकर फैसले ले रहे हैं। शिक्षक नेताओं ने जिला विद्यालय निरीक्षक के भ्रष्टाचार के प्रमाण भी प्रस्तुत किये।
श्री द्विवेदी ने बताया कि बस्ती, संतकबीरनगर व सिद्धार्थनगर जनपद के बोर्ड परीक्षा पारिश्रमिक वर्ष 2019 व 2020 के बकाया धनराशि का भुगतान नहीं हो रहा है। वित्तविहीन शिक्षकों को मानदेय भुगतान ना होने से कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। चयन वेतनमान, प्रोन्नत वेतनमान व एरियर के प्रकरणों के निस्तारण में भी रिश्वत मांगी जा रही है।
श्री द्विवेदी ने बताया कि मंडल के संत कबीर नगर में 34, सिद्धार्थनगर में 48 व बस्ती के 70 सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के जूनियर कक्षाओं के छात्र-छात्राओं को अभी तक निशुल्क पुस्तकें नहीं मिल पाई हैं। जिससे बच्चों को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है।
इस दौरान प्रांतीत उपाध्यक्ष मार्कण्डेय सिंह, राम पूजन सिंह, जय प्रकाश मिश्रा, गिरिजानन्द यादव, अजय प्रताप सिंह, आदित्य सिंह, अरुण मिश्रा, मोहिबुल्लाह खान, गुलाब चन्द्र मौर्या, विजय बहादुर सिंह, हरिकेश बहादुर यादव, महेश राम, जय चन्द्र यादव, राम नारायण पांडेय, उदयभान सिंह, विनोद चौरसिया, गोपाल जी सिंह, विनोद उपाध्याय, अरशद जलाल, महेश्वर सिंह, मंगला प्रसाद सहित अन्य मौजुद रहे।
डीआईओएस को निर्देश भेजा जा रहा है- जेडी
बस्ती। संयुक्त शिक्षा निदेशक मनोज कुमार द्विवेदी ने कहा कि शिक्षक समस्याओं के निस्तारण के लिए बस्ती, सन्तकबीरनगर व सिद्धार्थनगर के जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश भेजा रहा है।