Sunday, April 14, 2024
बस्ती मण्डल

कलेक्ट्रेट सभागार में विकास, निर्माण, स्वास्थ्य सहित विभिन्न विभागों की मासिक समीक्षा बैठक करती जिलाधिकारी – दिव्या मित्तल

संत कबीर नगर |जितेन्द्र पाठक |  जिलाधिकारी दिव्या मित्तल ने कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद के विकास, निर्माण, स्वास्थ्य एवं लाभार्थीपरक योजनाओं सहित विभिन्न विभागों द्वारा संचालित जनहित से जुड़ी अन्य योजनाओं के अद्यतन स्थिति एवं प्रगति की गहन समीक्षा किया। विकास कार्यो की सम्पूर्ण समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी दिव्या मित्तल का रूख बेहद संवेदनशील रहा खासकर विभिन्न निर्माण कार्यो में गुणवत्ता, लाभार्थीपरक योजनाओं में शत प्रतिशत पात्र व्यक्तियों को योजना से आच्छादित किया जाना, और अपात्रों को सूची से हटाने के लिए अधिकारीगण अपने अधीनस्थों के साथ गाॅव में जाकर इसकी जांच करते रहें आदि विन्दुओं पर सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिये गये। समीक्षा बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अतुल मिश्र ने जनपद के विकास कार्यो में प्रगति की अद्यतन स्थिति की रूपरेखा प्रस्तुत किया।
समीक्षा बैठक के प्रथम चरण में जिलाधिकारी ने राज्य पोषण मिशन के अन्तर्गत स्वास्थ्य एवं पोषण की विभिन्न गतिविधियों के अनुश्रवण हेतु गठित जिला पोषण समिति के कार्यो में प्रगति की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी सहित जनपद के सभी सी0डी0पी0ओ0 से उनके क्षेत्रों में अति कुपोषित बच्चों का विभिन्न मानकों के आधार पर पहचान कर उन्हें जिला चिकित्सालय स्थित एन0आर0सी0 केन्द्र में भर्ती करवाने का निर्देश दिया ताकि उनकी सघन देखभाल कर उन्हें स्वस्थ किया जा सकें। जनपद में पोषाहार वितरण की व्यवस्था के बारे में बारिकी से जानकारी प्राप्त करते हुए संस्थागत प्रसव, गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशुओं का टीकाकरण सहित उनके स्वास्थ्य संबंधि अन्य विन्दुओं पर जिलाधिकारी ने सी0एम0ओं0 एवं डी0पी0ओ0 के साथ विस्तृत समीक्षा किया तथा तत्परता के साथ एक-एक केस पर फोकस करने एवं आवश्यकतानुसार उपलब्ध सुविधाओं का ससमय लाभ पहुचाने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। विभिन्न योजनाओं के प्रगति के सापेक्ष आकड़ों को नियमित रूप से आॅनलाइन अपलोड करने के निर्देश दिये गये। मिशन कायाकल्प के तहत जनपद में आगनवाड़ी केन्द्रों के मरम्मत कराने का भी निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। जनपद में सड़कों चैड़ीकरण, सुदृढीकरण एवं गढ्ढामुक्त किये जाने की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि सड़कों का चैड़ीकरण करते समय सड़क में आने वाले विद्युत पोलो को विद्युत विभाग से अबिलम्ब समन्वयता बनाते हुए उन्हें बीच से हटा कर किनारें स्थापित कराया जाए। जनपद में 101 सामुदायिक शौचालयों के निर्माण की टेण्डर प्रक्रिया एवं कार्य शुरू होने में देरी पर नाराजगी व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने इसे प्राथमिकता के आधार पर तत्काल शुरू कराने का निर्देश दिया। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत जनपद के कुल बीमित कृषकों के सापेक्ष 230 कृषकों का वर्षा एवं जलभराव आदि के कारण फसल नष्ट हो जाने की क्षतिपूर्ति का भुगतान की कार्यवाही करते हुए बीमा कम्पनी से दिलाने का निर्देश जिलाधिकारी ने उप निदेशक कृषि एवं जिला कृषि अधिकारी को दिया। जिला पशु चिकित्साधिकारी से जनपद में पशुपालन, टीकाकरण सहित गोआश्रय स्थलों में सरंक्षित पशुओं की देखभाल, उनके स्वास्थ्य, चारे पानी आदि के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हुए जिलाधिकारी ने जनपद के सभी निजी पशुपालकों से उनके पशुओं के टैग लगवाने की अपील भी की। ताकि उनके स्वास्थ्य संबंधि देखभाल हेतु उन्हें आसानी से ट्रेस किया जा सकें। शहर में घुमने वाले पशुओं को आश्रय स्थलों में पहुचाने अथवा निजी पशुपालकों की दशा में उनके पशुओं को घूमते पाये जाने पर उनके खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश इ0ओ0 नगर पालिका को दिया गया। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 हरगोविन्द सिंह से जनपद के विभिन्न चिकित्सालयों में डाक्टरों की उपस्थिति, संख्या, दवाओं की उपलब्धता, इमरजेंसी डयूटी आदि के बारेम में पुछताछ करते हुए विभिन्न विन्दुओं पर आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये गये। जनपद में पात्रों को आयुष्मान गोल्डेन कार्ड बनाने की प्रगति की समीक्षा के दौरान पाया गया कि जनपद में 57 ऐसे गाॅव अभी बाकी है जिनमें एक भी गोल्डेन कार्ड नही बनाया गया है इस पर जिलाधिकारी ने सम्बंधित सी0एस0सी0 प्रतिनिधि को उक्त गाॅव में तत्काल गोल्डेन कार्ड बनाये जाने की प्रक्रिया शुरू कराते हुए समस्त पात्रों को गोल्डेन कार्ड की सुविधा उपलब्ध कराये जाने का निर्देश दिया। बताया गया कि जनपद में कुल 13 चिकित्सालय ऐसे है जिनमें वर्तमान में आयुष्मान गोल्डेन कार्ड के माध्यम से इलाज की सुविधा उपलब्ध है। समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने जनपद में कोविड-19 की स्थिति उपलब्ध व्यवस्था के सापेक्ष त्वरित क्रियान्वयन, एम्बुलेंस की उपलब्धता राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत कराये जा रहें कार्यो, आशाओं सहित अन्य कर्मियों का भुगतान, परिवार नियोजन सहित विभिन्न विन्दुओं पर आकड़ों एवं गुणवत्ता के आधार पर जिलाधिकारी ने समीक्षा करते हुए आवश्यकतानुसार सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। समीक्षा बैठक के दौरान अपर पुलिस अधीक्षक, जिला विकास अधिकारी, डी0एफ0ओ0, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी सहित जल निगम, शिक्षा विभाग, उद्योग विभाग सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारीगण उपस्थिति रहें।