Tuesday, June 25, 2024
बस्ती मण्डल

वर्दी को शर्मसार किया, लड़की को अश्‍लील मैसेज और वीडियो भेजता था दारोगा

बस्ती | बस्ती जिले में तैनात एक दरोगा ने अपनी हरकतों से न केवल वर्दी को शर्मसार किया है बल्कि एक लड़की का जीना मुहाल कर दिया है। चेकिंग के बहाने चौकी पर रोकने के बाद युवती को फोन कर अश्लील बातें शुरू कर दी। नंबर ब्लॉक किया तो वाट्सएप पर गंदे मैसेज-वीडियो भेजने लगा। अनैतिक दबाव का विरोध करने पर फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देने लगा। अंतत: लड़की ने साक्ष्य सहित आईजी रेंज से शिकायत की। उनके आदेश पर एएसपी ने जांच शुरू कर दी है। शुरुआती जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर देर शाम एसपी हेमराज मीणा ने दारोगा को लाइन हाजिर कर दिया।
चौकी पर रोकने के बाद लिया था मोबाइल नंबर
कोतवाली के सोनूपार पुलिस क्षेत्र की रहने वाली लड़की ने शिकायत की है कि कुछ महीने पहले वह अपने बुआ के बेटे के साथ बाइक से दवा लेने जा रही थी। आरोप है कि इस दौरान तत्कालीन सोनूपार चौकी इंचार्ज ने चेकिंग के नाम पर बाइक रोक ली। बुआ के बेटे को घंटों चौकी पर बैठाए रखा और बाद में मेरा मोबाइल नंबर लेकर हम दोनों को छोड़ा। उसी दिन शाम से फोन कर अश्लील बात करने लगा। विरोध करने के साथ ही नंबर ब्लॉक कर दिया तो दरोगा व्हाट्सअप पर मैसेज भेजने लगा। इस पर उसने व्हाट्सअप पर भी उसका नंबर ब्लॉक कर दिया। लड़की का आरोप है कि कुछ दिन बाद दवा लेने जाते वक्त फिर दरोगा ने चौकी पर रोक लिया और धमकी दी कि अगर मेरी बात नहीं मानोगी तो तुम्हारे परिवार को फर्जी मुकदमे में फंसाकर बर्बाद कर दूंगा। जानकारी घरवालों को दी तो सदर सर्किल की एक चौकी पर तैनात मनबढ़ दरोगा के बड़े भाई से शिकायत करने मेरे भाई गए। उन्होंने पूरी बात समझने के बाद छोटे भाई से बात की और कहा कि उसे खूब डांटा है और अब वह ऐसी गलती नहीं करेगा। मोबाइल का डाटा डिलीट कर दो। ऐसा न करने पर जबरन भाई का मोबाइल लेकर डाटा डिलीट किया और उसे अपशब्द कहते हुए भगा दिया। आरोप है कि तत्कालीन चौकी प्रभारी सोनूपार ने गांव के विपक्षियों से मिलकर घरवालों पर एक-एक करके चार फर्जी मुकदमे भी दर्ज करा दिए।
आईजी को सौंपे स्क्रीन शॉट और क्लिप
परिवार को खतरा बताते हुए युवती ने आईजी रेंज अनिल कुमार को शिकायती पत्र के साथ व्हाट्सअप मैसेज का स्क्रीन शॉट, फोन पर बातचीत की रिकार्डिंग व वीडियो क्लिप सौंपकर कार्रवाई की मांग की है। आईजी के आदेश पर एएसपी रवीन्द्र कुमार सिंह ने जांच शुरू कर दी है। शुक्रवार को भाई संग पहुंची युवती के बयान एएसपी कार्यालय पर दर्ज किए गए। आरोपी दरोगा मौजूदा समय में हाइवे से सटी एक चौकी का प्रभारी है, जबकि उसे संरक्षण दे रहा उसका सगा भाई भी सदर सर्किल की एक पुलिस चौकी का प्रभारी है।
मेरा पॉवर नहीं जानती, आला अफसर हैं मेरे रिश्तेदार
युवती के मुताबिक जब उसने दरोगा से उसकी शिकायत उच्चाधिकारियों से करने की बात कही तो वह भड़क गया। बोला कि हमारे कई रिश्तेदार आला अफसर हैं। बस्ती में तैनात एक उच्च अधिकारी को अपना रिश्तेदार बताते हुए कहा कि तुम मेरा कुछ नहीं कर पाओगी। दरोगा का पॉवर तुम नहीं जानती हो।
विवादों से दरोगा का रहा है पुराना नाता
सुर्खियों में आए दरोगा का विवादों से पुराना नाता रहा है। सोनूपार चौकी पर तैनाती के दौरान बिना फोर्स एक प्रकरण में पहुंचे इस दरोगा की कार्यशैली पर सवाल खड़े हुए थे। दरोगा ने खुद को बंधक बनाने व हमले का आरोप लगाया था। फोर्स मौके पर पहुंचने के बाद मामला शांत हुआ था। इस मामले में दरोगा ने मुकदमा भी दर्ज कराया था। इसी तरह हाइवे की एक चौकी पर तैनाती के दौरान भी एक दुकानदार की पिटाई का आरोप दरोगा पर लगा था। इस मामले में भी आला अफसरों के पहुंचने के बाद विवाद शांत हुआ था।
आईजी रेंज के आदेश पर जांच शुरू कर दी गई है। प्रकरण से संबंधित लोगों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। जांच पूरी कर जल्द ही रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंप दी जाएगी।
रवीन्द्र कुमार सिंह, एएसपी, बस्ती
जांच पूरी होने तक के लिए आरोपी दारोगा को लाइन हाजिर कर दिया गया है। आगे की कार्रवाई जांच पूरी होने के बाद की जाएगी।