Saturday, July 20, 2024
उत्तर प्रदेश

बेटा दोषी निकले तो चौराहे पर गोली मार देना

हाथरस। वाल्मीकि समाज से आने वाली हाथरस की बिटिया के साथ वारदात के बाद उत्तर प्रदेश ही नहीं, देश में कई जगहों पर इस घटना के खिलाफ प्रदर्शन जारी हैं। इस मामले में गिरफ्तार चार आरोपियों के परिजनों के कहना है कि उनके बेटों को फंसाया गया है। आरोपी रामू, रवि, लवकुश और संदीप के परिजनों ने उनको निर्दोष बताते हुए कहा कि घटना के समय वे कहां पर थे, साथ ही यह भी जोड़ा कि अगर अपराध साबित हो जाय तो उनको चौराहे पर खड़ा कर गोली मार दी जाय। आरोपी रामू के पिता राकेश ने हाथरस के भाजपा सांसद राजवीर दिलेर और उनकी बेटी मंजूर दिलेर पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

आरोपी रामू के पिता ने कहा कि हमलोग ठाकुर हैं जबकि सांसद राजवीर दिलेर भी वाल्मीकि जाति के ही हैं इसलिए वे दूसरे पक्ष का साथ दे रहे हैं। कहा कि मेरा बेटा सुबह को काम पर जाता है और शाम को लौटता है। कहा कि इस मामले में सभी निर्दोष हैं। 14 सितंबर को घटना हुई थी। पहले सिर्फ संदीप का केस में नाम था। 18 सितंबर को सांसद राजवीर दिलेर और बेटी मंजू दिलेर ने इस केस में और नाम डलवा दिए और साजिश कर धाराएं भी बढ़ा दी गईं। कहा कि इस घटना की निष्पक्ष जांच हो तो सच्चाई सामने आ जाएगी और अगर मेरा बेटा दोषी निकले तो चाहे उसे चौराहे पर गोली मार दो।

इस मामले में दूसरे आरोपी रवि के पिता ने कहा कि रंजिश के तहत उनके बेटे को इस मुकदमें में फंसाया गया। मृतक लड़की के बाबा के साथ 2001 में झगड़ा हुआ था जिसमें रवि जेल गया था। उस झगड़े में पहले दूसरे पक्ष को पुलिस ने पकड़ा था लेकिन बाद में रवि को पुलिस ने जेल में डाल दिया था। पिता ने कहा कि अब उसी रंजिश की वजह से उनके बेटे को केस में घसीटा गया है।

आरोपी लवकुश की मां ने कहा कि मैं लवकुश के साथ बाजरा काट रही थी, शोर सुनकर बेटे के साथ वहां गई। बेटे ने लड़की को पानी पिलाया था। क्या पता था कि पानी पिलाने के बदले में उसे जेल में डलवा देंगे। उन्होंने मृतका की मां और भाई से इस मामले पर पूछताछ की गुहार लगाई। आरोपी संदीप के पिता ने कहा कि जिस वक्त शोर हुआ था, बेटा उनके साथ ही था और गाय को पानी दे रहा था। पहले संदीप पर ही जानलेवा हमले का केस दर्ज हुआ था, बाद में तीन और लोगों का नाम मुकदमें में जोड़ा गया। कहा कि अगर मेरा बेटा दोषी निकले तो उसको सजा दो। सभी आरोपियों के परिजनों ने मामले की सही जांच की मांग की है।