Sunday, April 21, 2024
साहित्य जगत

जागो जागो हे…….

जागो जागो हे भगवान।
करो कोरोना का अवसान।
वर्तमान की हालत जर्जर।
सूख गया सुख का सरवर।
कैसा वातावरण भयावाह।
करो दुष्ट को नौ दो ग्यारह।
भगवन् तुम तो दयानिधान।
करो कोरोना का अवसान।
बिना तुम्हारे कुछ न मिलता।
एक नहीं है पत्ता हिलता।
खौफनाक पीड़ा का मंजर।
कर दो कोई जादू मंतर।
जिससे कोरोना भग जाए।
वातावरण खुशी का छाए।
हे प्रभु पुनः धरा पर आओ।
कोरोना से हमे बचाओ।
करो देश का अब कल्यान।
करो कोरोना का अवसान। जागो जागो हे भगवान।
डॉ. वी. के. वर्मा
चिकित्साधिकारी
जिला चिकित्सालय बस्ती