Saturday, July 20, 2024
राजनैतिक

किसानों के लिए लाए गए अध्यादेश मौत का फरमान है : राज्यसभा सांसद डॉ सुशील गुप्ता

गुरुग्राम। इन्दु/नवीन बंसल (राजनीतिक संपादक) किसानों के मसीहा ताऊ देवीलाल तथा किसानों के हितैषी होने का दम भरने के नाम पर चुनाव जीत कर सत्ता में भागीदार बने बैठे हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को तुरंत प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। बुधवार को आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद एवं सह-प्रभारी हरियाणा डॉ सुशील गुप्ता ने गुरुग्राम सिविल लाइंस स्थित एक निजी होटल में प्रैसवार्ता के दौरान उक्त मांग रखी।
डॉ सुशील गुप्ता ने किसानों के मुद्दों पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा एवं पंजाब दोनों ही राज्यों में पिछले सात दशक से मंडी बोर्ड सिस्टम के जरिये खरीद प्रणाली जारी है। हरियाणा में राज्य कृषि विपणन मंडल अनाज मंडियों में किसानों की फसल आढ़तियों के जरिये न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने की प्रक्रिया को हेंडल करता है। अकेले हरियाणा प्रदेश में करीब 113 अनाज मंडियां,168 सब यार्ड एवं 196 खरीद केंद्र हैं। हरियाणा में लगभग 35 हजार आढ़ती है, 70 हजार मुनीम और करीब 20 लाख किसान परिवार हैं। मंडी सिस्टम से करीब 4 लाख मजदूर परिवार भी इससे जुड़े है तो हरियाणा सरकार काले बिलों को लाकर इन लाखों लोगों का मुहं का निवाला क्यों छीन रही है।

बीजेपी से मांगे जवाब:-
1-आखिर सरकार को ऐसी क्या एमरजेंसी थी जिसके लिए उसे ये अध्यादेश लाने पड़े ? जबकि किसान खुलकर सडक़ों पर इसका विरोध कर रहे है ?
2-राज्य सभा में बिना बहस के बिलों को ध्वनिमत एवं धक्केशाही से क्यों पास किया गया?
3- देश के 17 विपक्षी राष्ट्रीय राजनैतिक दलों ने मिलकर महामहिम राष्ट्रपति को ज्ञापन देकर हस्ताक्ष न करने की मांग की लेकिन फिर भी हस्ताक्षर किए ?
4- इन बिलों में न्यूनतम समर्थन मूल्य देने तथा उसका उल्लंघन करने पर दण्ड का प्रावधान क्यों नहीं है
5- अगर अनाज मण्डी ही समाप्त हो आएँगी तो छोटे किसानों को एमएसपी कौन देगा और कैसे देगा?
6-क्या एफसीआई 15.5 करोड़ किसानों के खेत से एमएसपी पर फसल खरीद सकेगी ?

गुप्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी किसानों, आढ़तियोंं एवं मजदूरों के साथ खड़ी है तथा इन्हें सहारा देने का काम करेंगे। दक्षिण हरियाणा के अध्यक्ष आरएस राठी ने कहा कि आप पार्टी ने प्रदेश के जिला मुख्यालयों पर धरना प्रदर्शन एवं काला दिवस मनाया है तथा इन काले कानूनों को निरस्त करने के लिए राष्ट्रपति के नाम जिला उपायुक्तों को ज्ञापन भी सौंपें है।
इस मौके पर दक्षिण हरियाणा अध्यक्ष आरएस राठी, युवा अध्यक्ष धीरज यादव, जिला प्रवक्ता राम कुमार गौतम, डॉ सारिका वर्मा, अशोक वर्मा, ऋषि गोयल समेत दर्जनों पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे ।