Monday, April 15, 2024
बस्ती मण्डल

उमरिया इंटर कालेज के प्रबन्धक व प्रधानाचार्य ने मिलकर लिपिक को पीटा

धनघटा (सन्तकबीरनगर) उमरिया इंटर कालेज के लिपिक चन्द्र प्रकाश यादव की विद्यालय के प्रबन्धक व प्रधानाचार्य ने दो अन्य शिक्षकों को साथ लेकर जमकर पिटाई की है। आरोप है कि उक्त लोग विद्यालय लिपिक से किसी सादे लेटर पैड़ पर जबरन हस्ताक्षर व छात्र पंजिका में बैक डेटिंग करा रहे थे। मना करने पर कार्यालय से खींच कर फील्ड में लाकर जमकर मारे-पीटे है। मामले की तहरीर धनघटा पुलिस को दी गयी है।
पुलिस को दिए तहरीर में लिपिक ने आरोप लगाया है कि प्रतिदिन की भांति विद्यालय समय पर उपस्थित होकर अपना दायित्व निर्वहन कर रहे थे, कि इसी बीच कार्यालय में प्रबन्धक उदयभान यादव प्रधानाचार्य राधेश्याम यादव, सहायक अध्यापक घनश्याम यादव व अनुचर परशुराम आये, और एक सादे लेटर पैड़ पर जबरन हस्ताक्षर कराने लगे तथा छात्र पंजिका रजिस्टर पर बैक डेटिंग कराने लगे। मना किया तो उक्त चारो लोग मुझे कालर पकड़ कर बाहर फील्ड में घसीटते हुए ले आये, और लाठी-डंडा व लात घुसे से जमकर पिटाई की। मेरी मोबाइल भी तोड़ दिए।
उन्होंने बताया कि शोर सुनकर मेरे पुत्र सोनू गेट तक आया, किन्तु अंदर गेट अंदर से बंद होने के कारण मेरी सहायता नही कर पाया। उसके चिल्लाने से लोग स्कूल के कमरों में छिप गए। मेरे पुत्र ने 112 नम्बर पर फोनकर पुलिस से मदत माँगी, किन्तु वे लोग देर पहुचे। उन्होंने बताया कि विद्यालय के प्रधानाचार्य फर्जी अंक पत्र पर नौकरी कर रहे है, जिसकी शिकायत विभाग में ग्रामीणों ने की है, उसी बात से हमसे नाराज रहते है। थानाध्यक्ष धनघटा आर.के.गौतम ने बताया कि तहरीर मिल गयी है, आवश्यक कार्रवाई की जा रही।
घटना विभागीय अधिकारियों की लापरवाही का नतीजा: संजय द्विवेदी
संतकबीरनगर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के मण्डलीय मंत्री संजय द्विवेदी ने कहा है कि उमरिया की घटना विभागीय अधिकारियों की लापरवाही का नतीजा है। अधिकारी समय से निष्पक्ष व न्याय संगत कार्रवाई करते तो इस तरह की शर्मनाक घटना नही होती। सभ्य समाज में इस प्रकार की घटना निंदनीय है। हम कठोरतम कार्रवाई की मांग करते हैं।