Friday, April 19, 2024
बस्ती मण्डल

भीड़ के विरोध के कारण जांच करने आये ग्रामोउद्योग अधिकारी बेरंग लौटे

बस्ती। मंगलवार को विकास खण्ड कुदरहा के सबसे बड़ी ग्राम पंचायत गायघाट (अब नगर पंचायत) में ग्राम प्रधान व सचिव के विरुद्ध ग्राम पंचायत में मनरेगा कार्य, खड़ंजा निर्माण/मरम्मत कार्य में ग्राम पंचायत एवं राज्य वित्त/ चौदहवें वित्त आयोग की शासकीय धनराशि के उपयोग की जांच करने ग्रामोद्योग अधिकारी ए के सिंह गायघाट पहुंचे।
जिलाधिकारी बस्ती के निर्देश पर जिला ग्रामोद्योग अधिकारी ए के सिंह जैसे ही गायघाट कस्बे में विकास कार्यों की जांच करने के लिए शिकायत कर्ता राम कृपाल सोनकर व विनोद सोनकर से बात करना चाहा कि सैकड़ों की भीड़ इकट्ठा होने लगी। और पुराने मामलों को लेकर आपस में झगड़ा तकरार करने लगे। भारी भीड़ और सामाजिक दूरी का पालन न होने से जांचकर्ता घबराने लगे। सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष कलवारी विंदेश्वरी मणि त्रिपाठी ने किसी तरह भीड़ को तितर बितर किया। और शिकायतकर्ता व प्रधान पक्ष के तीन तीन लोगों को मौके पर रहने का आग्रह किया। इसके बाद भी ग्रामीण दस से पन्द्रह साल के पुराने मामलों को लेकर जांच करने पर अड़ गए। जिसके कारण जांच प्रभावित होने लगी। शिकायतकर्ता व ग्रामीण किए गए शिकायत के अलावा तमाम पुराने मामलों उठाना शुरू किए तो प्रधान प्रतिनिधि राजेन्द्र प्रसाद ने इन शिकायतों को यह कहकर खारिज कर दिया कि यह सब कार्ययोजना का काम है। जांचकर्ता ने शिकायतकर्ता से सप्ताह भीतर जांच हेतु कार्यों को चिन्हित करने को कहा और एक सप्ताह बाद पुनः जांच करने का आश्वासन दिया। जिस पर दोनों पक्ष सहमत होकर सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किया।
इस सम्बन्ध में जांचकर्ता जिला ग्रामोद्योग अधिकारी एके सिंह ने बताया कि अत्यधिक भीड़ इकट्ठा हो जाने और कोरोना काल मे सामाजिक दूरी का पालन न हो पाने के कारण जाँच स्थगित कर एक सप्ताह बाद जांच के दायरे में आने वाले कार्यों को चिन्हित कर लें। एक सप्ताह बाद सात अक्टूबर को पुलिस बल के साथ पुनः जांच की जाएगी।
Like
Comment
Share