Saturday, June 1, 2024
Others

पूरी तरह सुरक्षित है रक्तदान की प्रक्रिया-सीडीओ

बस्तीः सरकारी अस्पतालों में ब्लड यूनिट बढ़ाने के लिए भारतीय रेडक्रास सोसायटी की जिला इकाई ने रक्तदान शिविर का आयोजन किया। पटेल एसएमएच हास्पिटल एण्ड पैरामेडिकल कालेज गोटवा में आयोजित कार्यक्रम में 22 लोगों ने कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए स्वेच्छा से रक्तदान किया। मुख्य अतिथि सीडीओ सरनीत कौर ब्रोका ने कहा कि कोरोना काल में भी रक्तदान की प्रक्रिया पूरी तरह सुरक्षित है। लोग डरे नहीं और रक्तदान के लिए आगे आए। उन्होंने कहा कि विज्ञान के इस दौर में आप के एक यूनिट ब्लड से चार लोगों की जान बचाई जा सकती है।
सोसायटी के वरिष्ठ सदस्य व वरिष्ठ आयुष चिकित्साधिकारी डॉ. वीके वर्मा ने कहा कि इस समय जबकि लोग घरों से कम निकल रहे हैं, इसका प्रभाव ब्लड बैंकों पर भी पड़ा है। स्टॉक की कमी के कारण कभी भी बड़ा संकट खड़ा हो सकता है। इसे देखते हुए रेडक्रास सोसायटी ने रक्तदान शिविर का आयोजन किया है। डिप्टी सीएमओ डॉ. सीके वर्मा ने कहा कि रक्तदान एक बड़ा पुनीत कार्य है। कोरोना काल में मरीजों को कठिनाई न होने पाए इसके लिए हर स्तर से प्रयास किए जा रहे हैं। इलाज की प्रक्रिया में खून का बड़ा महत्व है।
सोसायटी के सदस्य पूर्व जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी एलके पांडेय ने कहा कि सभी स्वंयसेवी संस्थाओं व समाज के जागरूक लोगों को रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए। रक्तदान शिविर में जिला अस्पताल व बस्ती मेडिकल कॉलेज के ब्लड बैंक की टीम ने रक्तदाताओं का रक्त लेकर सुरक्षित किया। जिला अस्पताल की टीम में डॉ. दीपक श्रीवास्तव, अंजू सिंह, कीर्ति आनंद, मो. इमरान, पुष्कर सिंह, अनुराधा सिंह, राकेश भारती, अभिषेक सिंह व मेडिकल कॉलेज की टीम में डॉ. स्वराज शर्मा, डॉ. अखिलेश मद्धेशिया, डॉ. बबिता पांडेय, वीके प्रसाद, गोविंद शुक्ला, विकास, दीप्तिधर, सुधीर कुमार पांडेय शामिल रहे। आयोजन में सोसायटी के सचिव कुलवेंद्र सिंह, डॉ. पी शर्मा, डॉ. आरएन चौधरी, डॉ. आलोक रंजन, लालजी यादव, वीरेंद्र चौधरी, कुलदीप सिंह, किशन गोयल, बृजेश चौधरी, रजनीश पटेल सहित अन्य ने सहयोग प्रदान किया। रोटरी क्लब ग्रेटर की ओर से सीडीओ को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
रक्तदान के यह हैं फायदे
– हार्ट में कोलेस्ट्राल कम हो जाता है, जिससे ह्दयरोग का खतरा कम होता है।
– शरीर में हल्कापन महसूस होता है।
– रक्तदान के बाद आदमी खुद को काफी संतुष्ट महसूस करता है।
– कैंसर के खतरे कम हो जाते हैं।
यह है ब्लड बैंक में स्टॉक की स्थिति
– जिला अस्पताल में कुल यूनिट- 37
– जिला अस्पताल में क्षमता- 300 यूनिट
– मेडिकल कॉलेज में कुल यूनिट- 52
– मेडिकल कॉलेज में क्षमता- 500 यूनिट