Tuesday, June 11, 2024
बस्ती मण्डल

राष्ट्रपति को 6 सूत्रीय ज्ञापन देकर तीन विधेयकों के वापसी की मांग

बस्ती । शुक्रवार को अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आवाहन पर आयोजित भारत बंद का बस्ती में भी मिला जुला असर रहा। भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में हर्रैया, भानपुर, रूधौली में तहसील गेट के सामने चक्का जाम कर तीन कृषि विधेयकों को वापस किये जाने की मांग को लेकर उप जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को 6 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा गया। इसी कड़ी में मण्डल मुख्यालय पर बस्ती सदर तहसील परिसर में भाकियू, उत्तर प्रदेश किसान सभा एवं किसान मजदूर मंच के नेताओं, पदाधिकारियों ने धरना देने के बाद उप जिलाधिकारी सदर को 6 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।
राष्ट्रपति को भेजे 6 सूत्रीय ज्ञापन में किसान विरोधी तीनों विधेयकों को वापस लिये जाने, न्यूनतम समर्थन मूल्य को सभी फसलों पर लागू करते हुये गारण्टी का कानून बनाये जाने, समर्थन मूल्य से कम खरीद को अपराध घोषित किये जाने, बकाया गन्ना मूल्य का व्याज सहित भुगतान कराने, अतिवृष्टि से हुई फसलों, मकानों के नुकसान का मुआवजा दिये जाने, जंगली आवारा पशुओं से फसलों की सुरक्षा किये जाने, सरकारी व सार्वजनिक सम्पत्तियों के निजीकरण व बिक्री पर रोक लगाने आदि की मांग शामिल है।
भारत बंद के दौरान हुये धरना प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपने वालों में शोभाराम ठाकुर, दीवान चन्द पटेल, के.के. तिवारी, जयराम चौधरी, अशर्फीलाल गुप्ता, रामगढी चौधरी, श्याम मनोहर जायसवाल, हृदयराम वर्मा, श्याम नरायन सिंह, सीताराम चौहान, रामचन्दर सिंह, घनश्याम चौधरी, नाटे चौधरी, रामनवल किसान, सत्यराम चौधरी, राममहीपत चौधरी, राजनरायन, दीपनरायन, सत्यराम, नवनीत यादव, जे.पी. राव, शव्वीर अहमद, रामजियावन, राम सुरेमन, वंदना चौधरी, रेनू बाला, रमन कुमार, रामनरेश गुप्ता, नोखेलाल, त्रिवेनी प्रसाद चौधरी, योगेन्द्र के साथ ही अनेक किसान, मजदूर शामिल रहे।