Tuesday, June 25, 2024
बस्ती मण्डल

कोविड मरीजों के लिए 55 बेड का कोविड एल टू हास्पिटल तैयार

संतकबीरनगर,जितेन्द्र पाठक| जनपद में कोविड मरीजों के लिए एल – टू हास्पिटल की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। अब कोविड के उन मरीजों को बस्‍ती और लखनऊ नहीं जाना पडेगा जिनका आक्‍सीजन स्‍तर कम है, या उनको वेण्‍टीलेटर की जरुरत है। जिला अस्‍पताल में स्थित मैटर्निटी विंग के दूसरे तल पर कोविड एल – 2 हास्पिटल बनाया गया है।

जिले में अभी तक कोविड एल – वन स्‍तर की ही सुविधाएं थीं। जबकि एल – 2 स्‍तर की सुविधा के लिए बस्‍ती, गोरखपुर और लखनऊ जाना पड़ता था। जिला अस्‍पताल में स्थित एमसीएच विंग में कोविड एलटू हास्पिटल की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस विंग में 11 वेण्‍टीलेटर के साथ ही 5 एचएफएनसी ( हाई फ्लो आक्‍सीजन सप्‍लाई ) की व्‍यवस्‍था की गई है। वहीं 2 एनेस्‍थेटिक व 1 फिजीशियन की व्‍यवस्‍था शासन स्‍तर से तथा अन्‍य स्‍टाफ की व्‍यवस्‍था स्‍थानीय स्‍तर पर की गई है। चिकित्‍सकों के अतिरिक्‍त कुल 34 स्‍वास्‍थ्‍य कर्मी अस्‍पताल में लगाए गए हैं। इनमें पैरामेडिकल स्‍टाफ के साथ ही सफाईकर्मी तथा अन्‍य कर्मी शामिल हैं। कोविड – एल – टू हास्पिटल के उपकरणों का ट्रायल पूर्ण कर लिया गया है। शासन को सारी सूचनाएं भेज दी गई हैं। अनुमति मिलने पर दो दिनों के अन्‍दर इस सुविधा को चालू कर दिया जाएगा। कोविड एल टू हास्पिटल में वही मरीज रखे जाते हैं जिनका आक्‍सीजन स्‍तर कम होता है तथा उनको वेण्‍टीलेटर की जरुरत होती है।

इस तरह से किया गया है विभाजन

कोविड एल वन और कोविड एलटू हास्पिटल दोनों ही एमसीएच विंग में स्‍थापित हैं। इसका विभाजन इस तरह से किया गया है कि भूतल पर कोविड से सम्‍बन्धित स्‍टाफ रहेंगे। जबकि प्रथम तल पर कोविड एल वन हास्पिटल होगा। दूसरे तल पर 55 बेड का एल – 2 हास्पिटल होगा। जबकि तीसरे तल पर कोविड एल वन होगा। चौथे तल को आरक्षित किया गया है। इस तल पर एल – 1 व एल – टू स्‍तर की सारी सुविधाएं है। जरुरत पड़ने पर इसे एल – 1 या एल – 2 हास्पिटल में तब्‍दील कर दिया जाएगा।

कोविड एल – 2 हास्पिटल की तैयारियां पूर्ण – डॉ मोहन झा

इस सम्‍बन्‍ध में पूछे जाने पर एसीएमओ आरसीएच डॉ मोहन झा ने बताया कि कोविड एल 2 हास्पिटल में तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस हास्पिटल में कुल 55 बेड हैं। सारी सुविधाओं का ट्रायल कर लिया गया है। एनेस्‍थेटिक आ गए हैं, कल एक फिजिशियन और आ जाएंगे। इसके बाद एलटू स्‍तर के मरीजों को इस विंग में भर्ती किया जाएगा।

120 बेड का है कोविड एल वन हास्पिटल

जिले में कोविड मरीजों के इलाज के लिए अभी कोविड एल वन हास्पिटल है। यह हास्पिटल पहले सेण्‍ट थामस अस्‍पताल में चलता था। अब इस हास्पिटल को जिला अस्‍पताल के मैटर्निटी विंग में ही शिफ्ट कर दिया गया है। मैटर्निटी विंग की पहली और तीसरी मंजिल पर कुल 120 बेड की व्‍यवस्‍था की गई है।