Saturday, June 22, 2024
राजनैतिक

कृषि अध्यादेशों के खिलाफ आज बरोदा हल्के के काँग्रेस पार्टी के उमीदवारो ने सोनीपत पहुंच कर किसानों को दिया समर्थन।

सोनीपत |इन्दु/नवीन बंसल (राजनीतिक संपादक) केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि अध्यादेश के खिलाफ आज किसान संगठनों, आढ़ती एसोसिएशन व व्यापारी संगठन ने आज सोनीपत लघु सचिवालय पर धरना दिया और धरने में बरोदा हल्के के काँग्रेस के उमीदवारो ने सोनीपत पहुंच कर किसानों को समर्थन दिया।
सोनीपत लघु सचिवालय में एकत्रित होकर और नारेबाजी की और यह निर्णय लिया की अब धरना नहीं बल्कि गांव गांव जाकर सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ लोगों को जागरूक करेंगे ओर कहा कि सरकार किसान विरोधी इन तीनों अध्यक्षों को वापस ले। क्योंकि यह अध्यादेश मजदूर, किसान, आढती व व्यापारियों को बर्बाद करने वाले अध्यादेश है। उन्होंने सरकार को सख्त लहजे में जवाब देते हुए कहा कि अगर सरकार इन अध्यादेशों को 19 सितंबर तक वापस नहीं लेती है तो 20 सितंबर को बड़ा आंदोलन कर सभी मुख्यालय पर जिला उपायुक्त कार्यालयों का घेराव किया जाएगा और आर पार की लड़ाई का बिगुल बजा दिया जाएगा। सरकार किसानों को गुमराह ना करें और इस अध्यादेश को वापस लेने का काम करें। अगर सरकार 20 सितंबर तक भी नहीं जागी तो आने वाली 2 अक्टूबर को दिल्ली में पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की समाधि पर पूरे देश के किसान व मजदूर इकट्ठा होंगे और सरकार के खिलाफ अपनी आवाज को बुलंद करेंगे कर्नल मोर ने कहा कि सरकार किसान नेताओं को मुकदमे का डर दिखाकर आंदोलन को दबाने का काम कर रही है। हम सरकार को बता दें कि किसान नेता किसी भी कीमत पर झुकने वाले नहीं है और इस किसान व कृषि विरोधी अध्यादेश को वापस करवा कर ही दम लेंगे। गठबंधन सरकार जनता में भ्रम की स्थिति पैदा कर रही है और अपने आप को किसान हितेषी बताने का ढोंग कर रही है। उन्होंने गत दिनों पीपली में किसानों पर किए गए लाठीचार्ज की भी कड़े शब्दों में निंदा की और कहा कि भविष्य में सरकार इस तरह की गलती ना दोहराए, वरना इसके गंभीर परिणाम भुगतने को सरकार तैयार रहे। नहीं तो इसका बहुत बड़ा खामियाजा सरकार को भुगतना पड़ेगा।
जहां कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने भारतीय किसान आंदोलन के तीन अध्यादेश के खिलाफ चल रहे आंदोलन को अपना समर्थन दिया ।
उन्होंने एक स्वर में सरकार से मांग की सरकार तीनो अध्यादेश को तुरंत प्रभाव से वापस ले
और किसानों के विरुद्ध दर्ज मुकदमे खारिज करे ।
इस कार्यक्रम में कांग्रेस पार्टी व नेता प्रतिपक्ष चौ भूपेंद्र सिंह हूडा की तरफ से एक संदेश पहुचाया गया कि कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से किसानो के साथ खड़ी हैं और किसान यूनियन के साथ कंदे से कंदा मिलाकर सड़को पर उतरेगी व सरकार को ये काले कानून वापस लेने के लिये मजबूर करेगी ।
कांग्रेस के सभी नेताओं ने भारतीय किसान यूनियन के प्रधान सत्यवान नरवाल को आश्वासन दिलाया की हम सब तन मन धन से किसानों के आंदोलन को पूरी तरह से गति देने का काम करेंगे ।
इस कार्यक्रम में मुख्यत धरनास्थल पर मुख्यतः डॉ राजेश दहिया प्रधान किसान संघर्ष समिति, अनिल निम्बडिया प्रदेश अध्यक्ष , मजदूर यूनियन हरियाणा कांग्रेस उपस्थित रहे ।
बरोदा हल्के से कांग्रेस के टिकट के दावेदारो में कर्नल रोहित मोर चेयरमैन HPCC , पुर्व सैनिक विभाग, प्रदीप सांगवान , कुलदीप गंगाना, बिजेंद्र सांगवान बुटाना , इंदुराज नरवाल उर्फ भालू, मोहित मलिक उर्फ ढिल्लू , राजेश दहिया तथा उनके सैकडो समर्थकों ने भाग लिया व आंदोलन में उपस्थिति दर्ज कराई ।
Like
Comment
Share