Tuesday, April 16, 2024
राजनैतिक

किसानों को नहीं होने देंगे परेशान, मंडियों में पहले की तरह रहेंगी व्यवस्था – मुख्यमंत्री

चंडीगढ़| इन्दु/नवीन बंसल (राजनीतिक संपादक) मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने डिजिटल प्रेस कॉनफ्रेंस की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कृषि अध्यादेश को लेकर बड़ा बयान दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार सरकार MSP पर फसल खरीदने के लिए प्रतिबद्ध है।
वहीं, विपक्ष पर तंज कसते हुए सीएम ने कहा कि नेता राजनीति के लिए किसानों को भड़का रहे हैं। केंद्र सरकार को हमने पत्र लिख दिया है। मंडियों में पहले की तरह ही व्यवस्थाएं रहेंगी और हम किसी भी किसान को परेशान नहीं होने देंगे।
सीएम ने कहा कि मक्का और बाजरा का एक-एक दाना MSP पर खरीदेंगे। दूसरे राज्यों से आए मक्का और बाजरा नहीं बिकेंगे। उन्होंने कहा कि कृषि बाजार के सुधारों के लिए ही सरकार का अध्यादेश है। किसानों की समस्या का समाधान कर रहे हैं।
उन्होंने कहा किसानों का मामला केंद्र सरकार से जुड़ा है। राज्य सरकार केंद्र के कानून को केवल फॉलो करता है। अतिरिक्त व्यवस्था हम कर सकते हैं।
सीएम ने कहा कि इस एक्ट में लिमिट में हम जितना कर पाएंगे, उतनी करेंगे। पहले की तरह मंडियों में व्यवस्था रहेगी। एमएसपी पर ही फसल खरीदी जाएगी। MSP से नीचे कहीं भी खरीद नहीं होगी
इस दौरान मुख्यमंत्री ने कोविड मरीज के लिए अपना प्लाज्मा दान देने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि आढ़तियों की गेहूं सीजन कि पेन्डिंग कमीशन जल्द दे दी जाएगी। 22 सितंबर से 50 फीसदी संख्या के साथ स्कूल खोले जाएंगे।
सीएम ने बताया कि धान, मक्का,बाजरा की फसलें msp पर खरीदी जाएंगी। मक्का व बाजरा की दूसरे राज्यो से आई फसल नही खरीदी जाएगी। उन्होंने कहा कि कहा कि आढ़तियों की माध्यम से फसल खरीदी जाएगी। आढ़तियों को सरकार की तरफ से 7 दिन से ज्यादा समय पर फसल की कीमत देने पर उन्हें 12 फिसदी के हिसाब से ब्याज दिया जाएगा। धान का लस्टर लॉस जोकि 4 रुपए 60 पैसे बनता है का वहन सरकार करेगी।
मनोहर लाल ने कांग्रेस पर किसानों को बर्गलाने का खुला आरोप लगाया। कहा कि पंजाब और राजस्थान में कांग्रेस की सरकारें है। वहां क्यों ये बाजरा और मक्का msp पर क्यों नही खरीद रहे?