Saturday, June 22, 2024
बस्ती मण्डल

पटरी पर लौटा परिवार नियोजन कार्यक्रम, 14 ने कराई नसबंदी

सीएचसी बहादुरपुर में आयोजित हुआ सेवा दिवस
– कोरोना काल के कारण बंद थी नसबंदीं की सर्जरी
बस्तीः| जिले में परिवार नियोजन कार्यक्रम एक बार फिर पटरी पर लौटता हुआ नजर आ रहा है। उत्तर प्रदेश टेक्निकल सपोर्ट यूनिट (यूपीटीएसयू)के प्रयास से 14 महिलाओं की नसबंदी कराई गई। सीएचसी बहादुरपुर में नसबंदी कैम्प का आयोजन किया गया। प्रशिक्षित चिकित्सकों की देखरेख में सफलता पूर्वक कैम्प का आयोजन हुआ। ऑपरेशन के बाद महिलाओं को एम्बुलेंस की सहायता से उनके घरों तक भिजवाया गया। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इस सेवा दिवस की सफलता से काफी उत्साहित हैं।
डिप्टी सीएमओ आरसीएच डॉ. सीके वर्मा ने बताया कि कोरोना काल में अस्पतालों में अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रमों की गतिविधियां लगभग ठप पड़ गई थी। नसबंदी भी इससे प्रभावित था। लाभार्थियों की सुरक्षा की दृष्टि से पिछले पांच माह से नसबंदी सेवा दिवस का आयोजन नहीं किया जा रहा था। अब कोरोना से निपटने के साथ ही अन्य कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। नसबंदी ऑपरेशन के लिए कार्यक्रम तैयार किया गया है। पहला नसबंदी सेवा दिवस बहादुरपुर में आयोजित हुआ।
इसमें आशा कार्यकर्ताओं द्वारा 14 महिलाओं का पंजीकरण कराया गया था। उत्साहवर्धक बात यह रही कि बिना किसी भय के सभी महिलाएं कैम्प में आई और सभी का सफलता पूर्वक ऑपरेशन किया गया। आने वाले कैम्पों में लाभार्थियों की संख्या बढ़ाई जाएगी। सीएचसी के एमओआईसी डॉ. पवन वर्मा की देख-रेख में कैम्प का आयोजन किया गया। डॉ. प्रीति त्रिपाठी ने आयोजन में सहयोग प्रदान किया। जिला महिला अस्पताल के सर्जन डॉ. एसआर कन्नौजिया व उनकी टीम ने सफल ऑपरेशन किया। बीसीपीएम शिवभूषण श्रीवास्तव कैम्प के दौरान मौजूद रहे।
पंजीकरण कराकर इन तिथियों पर कराएं महिला नसबंदी
सीएचसी रुधौली- 15 सितम्बर
– सीएचसी गौर- 17 सितम्बर
– सीएचसी कुदरहा- 19 सितम्बर
– सीएचसी कप्तानगंज- 22 सितम्बर
– सीएचसी भानपुर- 25 सितम्बर
– जिला महिला चिकित्सालय में प्रत्येक गुरुवार व शुक्रवार को महिला नसबंदी की सुविधा
प्रत्येक शुक्रवार होता है अंतराल दिवस
जनपद की समस्त चिकित्सा इकाईयों पर प्रत्येक शुक्रवार को अंतराल दिवस का आयोजन होता है। इस दिन महिलाओं को अंतरा इजेक्शन लगाने के साथ ही गर्भनिरोधक गोलिया तथा परिवार नियोजन से संबंधित परामर्श निशुल्क दिया जाता है।
लाभार्थी परक योजना भी जानिए
महिला नसबंदी (अंतराल)- 2000 रुपए
आशा कार्यकर्ता/प्रेरक को प्रोत्साहन राशि- 300 रुपए
प्रसव पश्चात महिला नसबंदी- 3000
आशा कार्यकर्ता/प्रेरक को प्रोत्साहन राशि- 400 रुपए
पुरूष नसबंदी- 3000 रुपए
आशा कार्यकर्ता/प्रेरक को प्रोत्साहन राशि- 400 रुपए
अंतरा इंजेक्शन प्रति डोज- 100 रुपए
आशा कार्यकर्ता को प्रोत्साहन राशि- 100 रुपए
प्रसव पश्चात आईयूसीडी- 300 रुपए
आशा कार्यकर्ता को प्रोत्साहन राशि- 150 रुपए
गर्भपात (सर्जिकल, स्वतः) पश्चात आईयूसीडी- 300 रुपए
आशा कार्यकर्ता को प्रोत्साहन राशि- 150 रुपए
कोरोना काल में नसबंदी सहित अन्य परिवार नियोजन की गतिविधियां धीमी पड़ गई थी। इसे दोबारा शुरू करा दिया गया है। आशा कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि वे नसबंदी की इच्छुक महिला व पुरूष का पंजीकरण कराकर उन्हें लाभ दिलवाएं।
– डॉ. एके गुप्ता, सीएमओ, बस्ती