Tuesday, June 25, 2024
बस्ती मण्डल

बिना मुआवजा दिये श्रीराम जानकी मार्ग निर्माण पर भडके किसान

बस्ती । श्रीराम जानकी मार्ग एनएच-227 ए पर बिना किसानों की भूमि का मुआवजा दिये जबरिया सड़क निर्माण करा लेने को लेकर किसानों में आक्रोश है। गुरूवार को समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं आवास विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष  सिद्धार्थ सिंह के नेतृत्व में क्षेत्रीय किसानों ने जिलाधिकारी के प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देकर एनएच-227 ए के प्रोजेक्ट मैनेजर के विरूद्ध किसानों की आराजी भूमि का मुआवजा दिलाने की जगह जबरन कब्जा करने का मुकदमा दर्ज कराने की मांग किया।
ज्ञापन में कहा गया है कि रामजानकी मार्ग पर किसानों की आराजी भूमि पर   एनएच-227 ए के किलोमीटर संख्या 0.00 से 55 किलोमीटर के मध्य जबरिया कब्जा किया जा रहा है। ऐसे में प्रोजेक्ट मैनेजर के विरूद्ध किसानों की जमीन पर जबरिया कब्जा की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर किसानों के आराजी भूमि की सुरक्षा किया जाय।
सपा नेता सिद्धार्थ सिंह ने कहा है कि जिलाधिकारी ने स्पष्ट आदेश दिया है कि किसानों को मुआवजा देने के बाद ही सड़क निर्माण कराया जाय किन्तु इसका खुला उल्लंघन जारी है और हक के लिये संघर्ष करने वाले 6 किसानों को दुबौलिया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। किसानों का उत्पीड़न किसी कीमत पर नहीं होने दिया जायेगा। यदि जबरिया निर्माण न रूका, किसानों को मुआवजा नहीं दिलाया गया तो क्षेत्र के किसान आन्दोलन को बाध्य होंगे। कहा कि किसान सड़क निर्माण के लिये भूमि देने को तैयार है किन्तु प्रशासन उन्हें भूमि का मुआवजा दे। यदि बिना मुआवजा दिये जबरिया सड़क निर्माण का प्रयास जारी रहा तो परिणाम गंभीर हांेगे और इसकी पूरी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी।
ज्ञापन सौंपने वालों मे चन्द्रिका सिंह, प्रहलाद सिंह, जगदीश यादव, ज्ञानदास, सीताराम, अजय सिंह, राशिद, छत्रपाल सिंह, देवनरायन सिंह, राजेन्द्र सिंह, बाबूराम, हरिश्चन्द्र, रामनरायन, सियाराम, विनय कुमार, रामकेवल, दीपचन्द, राजवर्धन सिंह, युसुफ शेख, उदय प्रताप सिंह, हरिनरायन, अरविन्द सिंह, शांति सिंह सहित अनेक किसान शामिल रहे।