Tuesday, June 25, 2024
बस्ती मण्डल

*स्वास्थ्य विभाग की विशेष निगरानी में हैं होम आइसोलेटेड कोरोना मरीज*

संतकबीरनगर, होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना उपचाराधीन मरीजों की विशेष निगरानी की जा रही है। रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) जहां मरीजों के घर जाकर उनसे सम्पर्क करके आवश्यक दिशा निर्देश दे रही है। वहीं होम आइसोलेसन में रहने वाले मरीजों को होम क्वारंटाइन ऐप से भी जोड़ा जा रहा है ताकि उनकी दैनिक सूचना कण्ट्रोल रुम को तुरन्त ही मिलती रहे।
अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मोहन झा ने बताया कि वर्तमान में पूरे जनपद में कुल 117 लोग होम आइसोलेशन में हैं। इनमें से 109 मरीजों से आरआरटी टीम ने सम्पर्क कर लिया है। उनकी निगरानी के लिए अंग्रिम पंक्ति कार्यकर्ताओं तथा चिकित्सकों को भेजा जा रहा है। साथ ही साथ होम क्वारंटाइन ऐप के जरिए उनकी दैनिक गतिविधि को अर्थात दिल की धड़कन, आक्सीजन का प्रवाह, शारीरिक तापमान के साथ ही अन्य जानकारियों को अपडेट किया जा रहा है।
*इन्हें होम आइसोलेशन की छूट नहीं-*
एचआईवी ,कैंसर पेसेंट, प्रत्यारोपण प्राप्तकर्ता को होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं है।मेडिकल ऑफिसर के उचित मूल्यांकन के बाद ही इन मरीजों को होम आइसोलेशन की अनुमति मिलेगी।60 साल से ऊपर के मरीजों को होम आइसोलेशन की अनुमति मेडिकल ऑफिसर के उचित मूल्यांकन के आधार पर तय होगा।इसके अलावा डायबटीज, हाइपरटेंशन, कैंसर, किडनी, फेफड़ों से सबंधित गंभीर बीमारी वाले मरीजों को भी होम आइसोलेशन की छूट मेडिकल ऑफिसर के उचित मूल्यांकन के आधार पर मिलेगी।
*होम आइसोलेशन के लिए जरूरी दिशा-निर्देश*
होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीज को परिवार के सदस्यों से बिलकुल अलग-थलग रहना होगा।होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज की देखभाल के लिए 24 घंटे एक केयर गिवर होगा. जो अस्पताल और मरीज के बीच सेतु का काम करेगा ।होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप होना चाहिए जो पूरी तरह सक्रिय हो।
*केयर गिवर के लिए निर्देश*
· केयर गिवर को हमेशा मॉस्क और ग्ल्ब्स लगाना होगा।
· उसे दिन में एक बार हाइड्राक्सीक्लोरोक्वीन की गोली लेनी होगी।
· मरीज से कम से कम काण्टैक्ट में रहना होगा ।
· 1 प्रतिशत हाइपोक्लोराइड से पूरे कमरे को सेनेटाइज करना होगा।
1